Beenaganj : जिले की पहली गौशाला का होगा निर्माण

स्थानीय नगरपालिका परिषद के द्वारा गौशाला के निर्माण को मंजूरी दी गई है। नगरपालिका परिषद के गौशाला का संचालन किया जाएगा जिसमें गोवंश के लिए चारे पानी की व्यवस्था नगरपालिका के द्वारा की जाएगी। इन दिनों चाचौड़ा Beenaganj बीनागंज नगरों में लावारिस गायों की संख्या बहुत अधिक है, जिससे नागरिकों को भी परेशानी हो रही है और गाय, बैलों की भी चारे-पानी की व्यवस्था ना होने से बड़ी संख्या में गोवंश की मौत हो रही है। नगरपालिका परिषद द्वारा यह प्रस्ताव पास करके दोनों समस्याओं का समाधान निकाला गया है।

Beenaganj : गौशाला के लिए स्थान चयनित

नगरपालिका परिषद के द्वारा गौशाला के निर्माण के लिए स्थान चयनित कर लिया गया है। चाचौड़ा में अंबाला मंदिर के नीचे नगरपालिका परिषद की भूमि है जिसके नजदीक ही काफी घना जंगल है तथा उक्त भूमि के पास ही तालाब बना हुआ है। इस स्थान को चयनित करने के पीछे नगरपालिका परिषद का उद्देश्य गायों के लिए चारा-पानी सुलभ तरीके से उपलब्ध कराना है।

गौशाला के निर्माण में करीब 20 लाख रुपए का व्यय होगा जिसके लिए नगरपालिका परिषद ने मंजूरी दे दी है। गौशाला की क्षमता 500 गोवंश की होगी।

पहली नगरपालिका परिषद जिसने गौशाला संचालन का उठाया जिम्मा

चाचौड़ा बीनागंज नगरपालिका परिषद जिले की पहली नगर इकाई है जिसने इस तरह का कोई कदम उठाया है। दरअसल गुना जिले की अन्य नगरपालिका परिषदों में इस तरह की कोई व्यवस्था लागू नहीं की गई है। चाचौड़ा बीनागंज के नगरपालिका परिषद अध्यक्ष कृष्ण सोनी की पहल पर नगरपालिका परिषद के द्वारा गौशाला निर्माण और गौशाला संचालन का प्रस्ताव पास हुआ है। इस संबंध में तीव्र गति से कार्यवाही की जा रही है तथा शीघ्र ही गौशाला का निर्माण प्रारंभ हो जाएगा, जिससे गौशाला की शुरुआत जल्दी हो सके। दरअसल कृष्ण सोनी की छवि हिंदूवादी नेता की है इसलिए इस कदम को उनके हिंदुत्व के एजेंडे से भी जुड़कर देखा जा रहा है।

विष्णु शाक्यवार
विष्णु शाक्यवार

About Samar Saleel

Check Also

ऑलिव ऑयल का ऐसे भी कर सकते हैं इस्तेमाल…

ऑलिव ऑयल की गिनती बेहद ही हेल्दी ऑयल्स में होती है और यही कारण है ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *