Auraiya : साधुओं को शहीद का दर्जा देने की मांग

औरैया। Auraiya के  बिधूना कुदरकोट के भयानकनाथ मन्दिर में दो साधुओं की निर्मम हत्या और एक साधु को मरणासन्न किये जाने की घटना को लेकर क्षेत्रीय लोगों ने सीएम योगी को पत्र भेजकर घटना की सीबीआई जाँच व कोतवाली और चौकी में तैनात अधिकारियों की भूमिका की जांच कराये जाने की मांग की। वहीं आज मैनपुरी से आये अखाड़ा के प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि ये भारतीय संस्कृति और सीएम योगी का अपमान है। पुलिस अभी असली हत्यारों से बहुत दूर है। जो लोग इसको संरक्षण दे रहे थे, उनका अभी तक कुछ नहीँ हुआ है।

Auraiya दोनों साधुओं को

Auraiya इस घटना को लेकर हम सरकार से मांग करते हैं कि दोनों साधुओं को शहीद का दर्जा देने के साथ यहां बड़ी गौशाला खोली जाए। हमारी संस्कृति और धर्म दोनों की हानि हुई है। जिसे कभी बर्दाश्त नहीँ किया जाएगा। क्षेत्रीय लोगों ने भी मामले की जांचकर दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही की मांग की।
घटना को लेकर सोमवार को महन्त रामचरन दास, रविन्द्र कुमार, सोनू दीक्षित, दिनेश कुमार, सतेन्द्र सिंह, राघवेन्द्र कुमार।

अनुज, अश्वनी, दीपक, राहुल सहित क्षेत्रीय लोगों ने मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में बताया है कि चौकी प्रभारी द्वारा गोकशी में लिप्त लोगों को गोवंश सहित गिरफ्तार किया था और कोतवाली में सुपुर्द किया था, उन्हें किस के दबाव व किस अधिकारी द्वारा मुक्त कर दिया गया? उन्होंने कहा कि गोकशी में लिप्त लोगों से सांठगांठ रखने वाले अधिकारी, कर्मचारी व दलालों को भी चिन्हित कर कार्यवाही की जाये। उन्हीं की कार्यशैली के चलते साधुओं की हत्या की गई है। क्षेत्रीय जनता ने गोकशी के अवैध धन्धे को बढ़ावा देने वाले पूर्व में तैनात रहे एक चौकी प्रभारी की भी काल डिटेल निकलवाने और उनकी भूमिका की जांच कराकर दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही की मांग करते हुए घटना की सीबीआई जांच कराने की मांग की।

यह था मामला-

ज्ञातव्य हो कि 14 अगस्त की रात्रि गौकशी में लिप्त लोगों द्वारा कुदरकोट में भयानकनाथ मन्दिर में दो साधुओं की धारदार हथियारों से निर्मम हत्या कर दी गई थी और एक साधु को मरणासन्न कर दिया था। शनिवार को घटना का पर्दाफाश किया गया।

 

About Samar Saleel

Check Also

फ्री की यात्रा में मेरठ की महिलाएं अव्वल

लखनऊ। प्रदेश में रक्षाबंधन पर 12.03 लाख महिलाओं ने परिवहन निगम की बसों में मुफ्त ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *