Flexi-Fare स्कीम : इन ट्रेनों में यात्रियों को किराए में मिलेगी बड़ी राहत

नर्इ दिल्ली । रेल यात्रियों के लिए एक बड़ी खबर है। रेलवे उन्हें किराए में राहत देने के लिए अगले महीने Flexi-Fare स्कीम में बड़े बदलाव करने की तैयारी में है।

Flexi-Fare स्कीम में राहत

भारतीय रेलवे समय-समय पर यात्रियों की सुविधाआें आैर सहूलियत के लिए हिसाब से बदलाव करता रहता है। सूत्रों की मानें तो भारतीय रेलवे अगले महीने से रेल यात्रियों को फ्लेक्सी फेयर स्कीम में राहत देने की तैयारी में है। कुछ क्षेत्रों में प्रीमियम ट्रेनों के लिए यात्रियों को ज्यादा किराए का भुगतान करना पड़ता है जो कि हवाई यात्रा के बराबर पड़ जाता है। एेसे में हाल ही में रेल मंत्रालय भीड़भाड के दौरान किए गए प्रयोग में कुछ ट्रेनों की पहचान की है आैर उनमें फ्लेक्सी फेयर स्कीम को फिलहाल बंद कर सकता है।

इसे भी पढ़ें – Honeypreet की डायरी ने खोले कई राज

फ्लेक्सी फेयर के तहत आने वाली ट्रेनें

रेलवे द्वारा किए गए एक्सपेरीमेंट में पाया गया है कि भीड़भाड़ के दौरान 30 प्रतिशत से कम सीटें ही भरीं। एेसे में अब इसकी जगह पर यहां हमसफर ट्रेनों में लगने वाला फार्मूला लागू किया जा सकता है। फ्लेक्सी फेयर के तहत राजधानी, शताब्दी और दुरंतो जैसी ट्रेने आती हैं। इनमें 50 प्रतिशत सीट वास्तविक मूल्य से 15 प्रतिशत से अधिक पर बेची जाती हैं। इसके बाद हर 10 फीसदी टिकटें बिकने पर किराए में 10 फीसदी की बढ़ोतरी की जाती है। कैग की रिपोर्ट में भी रेलवे की फ्लेक्सी फेयर स्कीम को लेकर हैरान करने वाली बातें सामने आर्इ है।

ट्रेनों में बड़ी संख्या में सींटे खाली

सूत्रों की मानें तो कैग ने भारतीय रेलवे को इसकी वजह से फटकार भी लगार्इ है। कैग ने कहा है कि फ्लेक्सी फेयर लागू होने के बाद इन ट्रेनों में बड़ी संख्या में सींटे खाली रह गर्इ हैं। इसकी वजह से विभाग को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है। वहीं अगर पहले के आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो 3-एसी से रेलवे पहले ही फायदा कमा रहा था। इसलिए फ्लेक्सी किराया लागू करने का काेर्इ मतलब नहीं था। बता दें कि प्रीमियम ट्रेनों में फ्लेक्सी फेयर लगने से 9 सितंबर, 2016 से 31 जुलाई, 2017 तक इन ट्रेनों में यात्रियों की संख्या घटी है।

About Samar Saleel

Check Also

लम्बे समय से बीमार चल रहे पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का 66 साल की उम्र में निधन

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का शनिवार को दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *