S.J.S School में धूमधाम से मना कृष्णजन्माष्टमी

रायबरेली। एस.जे.एस.स्कूल (S.J.S School) में भगवान श्रीकृष्ण की जन्माष्टमी बड़े ही धूमधाम के साथ मनायी गई। नन्हे-मुन्हे बच्चों ने भजन पर नृत्य कर अलौकिक समा बांधा और भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव मनाया।

S.J.S School : नन्द के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की

एस.जे.एस.स्कूल में भगवान श्रीकृष्ण की जन्माष्टमी बड़े धूमधाम से मनायी गई। बच्चों ने हरे कृष्ण गोविंद, हरे मुरारी….. हरे नाथ नारायण वासुदेवा भजन पर नृत्य के साथ अलौकिक समा बांध दीया। साथ ही बच्चों ने सजीव झांकी द्वारा नन्द के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की….. धुन पर भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव मनाया।

प्रस्तुतीकरण में अद्वितीय सिंह, कुमारी नंदिका सिंह, शैर्य गुप्ता व अर्श के साथ तमाम बच्चों ने बेहतरीन प्रस्तुती द्वारा मनमोह लिया।

अधर्म के शमन पर धर्म स्थापना

विद्यालय जनसम्पर्क अधिकारी मनोज शर्मा ने बताया कि भगवान श्रीकृष्णजन्माष्टमी का यह पावन त्योहार भगवान श्रीकृष्ण द्वारा नीति, धर्म व सदाचार का स्थापना तो दूसरी ओर अधर्म के शमन पर धर्म स्थापना के साथ अपनी लीलाओं द्वारा ज्ञानयोग, भक्तियोग, ब्रह्मयोग, अध्यात्मयोग व कर्मयोग पर मानव जीवन को अवलोकित करने के लिए मनाया जाता है।

विद्यालय प्रबंध-निदेशक रमेश बहादुर सिंह ने भगवान श्रीकृष्ण के बारे में वर्णन करते हुए कहा की भगवान श्रीकृष्ण ने कहा है कि संसार में जो भी व्यक्ति मुझमे परम प्रेम, आस्था , विवास व निष्काम भाव से मेरे द्वारा प्रदत्त ज्ञानयोग श्रीमदभगवतगीता का पठन-पाठन व श्रवण करते हुए पर-निन्दा से दूरी रखेगा वह निःसंदेह मेरा प्रिय होकर उत्तम लोक को प्राप्त करेगा।

शिक्षक शिक्षिकाओं ने महती भूमिका निभाई

कार्यक्रम की समाप्ति पर विद्यालय प्रधानाचार्या डा0 बीना तिवारी ने प्रतिभागियों समेत समस्त बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए उन्हे हर प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने के लिए प्रेरित किया व कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए जीविका कुमारी, कामायनी, रजनी, श्वेता, अंजली, रश्मि व नुसरत खां आदि शिक्षक शिक्षिकाओं ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

– रत्नेश मिश्रा

About Samar Saleel

Check Also

दिल्ली सरकार का 10वीं-12वीं के छात्रों तोहफा- नहीं देनी होगी बोर्ड परीक्षा की फीस

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) के 10वीं और 12वीं बोर्ड की फीस बढ़ाने के ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *