ये आठ यूनिवर्सिटीज करेंगी संरक्षण गृहों का Social Audit

देवरिया कांड सामने आने के बाद किर किरी से बचने के लिए केंद्र ने प्रदेश के कुल आठ यूनिवर्सिटी के  सोशल ऑडिट (Social Audit) कराने का फैसला किया है। बताया जा रहा है की संरक्षण गृहों के हालात ख़राब होने के कारण ही ऐसे सख्त कदम उठाए गए हैं।

Social Audit का काम राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग द्वारा

देवरिया कांड सामने आने के बाद प्रदेश में संचालित हो रहे संरक्षण गृहों के हालात को लेकर बेहद सख्त प्रदेश सरकार ने इनका सोशल ऑडिट आठ यूनिवर्सिटी से कराने का निर्णय लिया है। सोशल ऑडिट का काम राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग द्वारा नामित संस्था भी करेगी। नामित संस्था का आकार व अनुभव को देखते हुए प्रदेश सरकार ने इसमें यूनिवर्सिटी को भी शामिल करने का फैसला लिया है। सोशल ऑडिट में जहां भी गड़बड़ी मिलेगी वहां सख्त कार्रवाई की जाएगी।

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग

यूपी के देवरिया कांड और बिहार के मुजफ्फरपुर कांड के बाद महिला कल्याण विभाग के तहत आने वाले सभी संरक्षण गृहों व संस्थाओं के हालात को लेकर जमकर हंगामा हुआ था। जिसके बाद इन संरक्षण गृहों व बाल गृहों का सरकारी के अलावा सोशल ऑडिट कराने का मामला जोर-शोर से उठा था। सुप्रीम कोर्ट ने इसके लिए राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग को सभी राज्यों में सोशल ऑडिट कराने का जिम्मा सौंपा था। जिसके बाद आयोग ने यूपी में सोशल ऑडिट के लिए लखनऊ की संस्था एकेडमी ऑफ मैनेजमेंट साइंस को नामित किया है।

इंफ्रास्ट्रक्चर व मैनपावर की भी जानकारी नहीं

अपर मुख्य सचिव महिला कल्याण रेणुका कुमार ने बताया कि महिला कल्याण विभाग ने आयोग को पत्र लिखकर कहा था कि उनके द्वारा तय की गई संस्था एकेडमी ऑफ मैनेजमेंट साइंस की ख्याति व महिला कल्याण के क्षेत्र में इसके कार्यों की जानकारी उनके पास नहीं है। विभाग के पास इस संस्था के इंफ्रास्ट्रक्चर व मैनपावर की भी जानकारी नहीं है। इस पत्र में बताया गया कि यूपी में तो सोशल ऑडिट वर्ष 2015 से हो रहा है। इसके बावजूद प्रदेश सरकार केंद्र की संस्था के साथ ही अपने स्तर से भी सोशल ऑडिट कराएगी।

सोशल ऑडिट के लिये आठ प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी को चुना गया है।

– डॉ. राम मनोहर लोहिया विधि विश्वविद्यालय लखनऊ
– डॉ. राम मनोहर लोहिया विश्वविद्यालय फैजाबाद
– महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी
– लखनऊ विश्वविद्यालय लखनऊ
– एमजेपी रूहेलखंड विश्वविद्यालय बरेली
– डॉ. बीआर अंबेडकर विश्वविद्यालय झांसी
– आगरा विश्वविद्यालय, आगरा
– काशी हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी

About Samar Saleel

Check Also

लम्बे समय से बीमार चल रहे पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का 66 साल की उम्र में निधन

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का शनिवार को दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *