Karnataka : निकाय चुनाव में कांग्रेस बनी नंबर वन

बेंगलुरु। चार महीने से भी कम समय में विधानसभा चुनाव होने को हैं, और इसी दौरान कांग्रेस ने कर्नाटक (Karnataka) में खुद की मजबूत स्थिति का इशारा दिया है। कांग्रेस का यह कहना है की, कांग्रेस-जेडी (एस) का गठबंधन लोकसभा चुनावों में अच्छे परिणाम हासिल कर सकता है।

Karnataka : बीजेपी दूसरे स्थान पर

कांग्रेस ने कर्नाटक के 105 शहरी स्थानीय निकायों में सबसे ज्यादा सीटें जीतीं है। 31 अगस्त को आयोजित राज्य के 30 जिलों में 22 शहरी निकायों के लिए चुनाव में कांग्रेस ने 2,662 सीटों में से 982 जीती हैं। वहीं भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) 929 सीटों के साथ दूसरे स्थान पर रही।जेडी-एस 375 सीटों पर काबिज रही।

कांग्रेस खेमें में खुशी की लहर

शहरी स्थानीय निकायों की शेष सीटों पर 329 निर्दलीयों के साथ अन्य विजयी हुए हैं। इस बार यहां बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) ने 13 सीटों पर जीत हासिल की। अन्य क्षेत्रीय दलों ने 34 सीटें जीतीं हैं। इस जीत के बाद कांग्रेस खेमें में खुशी की लहर दौड़ गर्इ। वहीं जेडी-एस नेता और मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने परिणामों को गठबंधन सरकार के लिए जीत का आगाज बताया। उन्होंने कहा कि नतीजे बताते हैं कि जेडी-एस और कांग्रेस ने न केवल ग्रामीण मतदाताओं बल्कि शहरी मतदाताओं का भरोसा जीता है।

चुनाव परिणाम ने उन लोगों को चुप कर दिया है जो कहते फिर रहे हैं कि कांग्रेस कमजोर हो गई है। इसलिए अब यह लिखना बेमानी होगी कि कर्नाटक में कांग्रेस नहीं है। लोकसभा चुनावों के लिए पूर्व में ही हम (कांग्रेस और जेडी-एस) चुनाव गठबंधन करेंगे। इससे हमारी जीत पक्की होगी। – दिनेश गुंडू राव (राज्य कांग्रेस अध्यक्ष)

खराब प्रदर्शन के लिए जिम्मेदार : येदियुरप्पा

बीजेपी राज्य इकाई के अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने जेडी-एस और कांग्रेस को अपने खराब प्रदर्शन के लिए जिम्मेदार ठहराया है। बीजेपी आैर सीटें जीत सकती थीं लेकिन कांग्रेस-जेडी-एस गठबंधन की वजह से नहीं जीत पार्इ। हालांकि इस दौरान उन्होंने यह भी भराेसा दिलाया कि बीजेपी ने तटीय जिलों के पारंपरिक गढ़ों में अच्छा प्रदर्शन किया है।

भारतीय जनता पार्टी को आगामी लोकसभा चुनाव में बहुमत हासिल करने पर भरोसा है। हाल ही में राज्य के 22 जिलों में 29 नगर नगर पालिकाओं, 53 नगर नगर पालिकाओं, 23 नगर पंचायतों और तीन नगर निगमों के 135 वार्ड में चुनाव हुए।

मतदान स्थगित कर दिया गया

वहीं कोडागु जिले में नागरिक निकायों की 45 सीटों में भारी बारिश और बाढ़ की वजह से मतदान स्थगित कर दिया गया है। गौरतलब है की 2013 कर्नाटक में 4,976 सीटों के लिए आयोजित चुनाव में कांग्रेस ने 1,960 सीटें जीतीं थी।

बीजेपी और जेडी-एस ने 90 सीटों पर जीत हासिल की थी। वहीं शेष 1,206 सीटें निर्दलीय उम्मीदवाराें ने जीतीं थी।

About Samar Saleel

Check Also

देश के कई राज्यों में जारी है भारी बारिश का कोहराम, मौसम विभाग ने इन इलाको में जारी किया हाई अलर्ट

देश के कई राज्यों में बारिश का कोहराम जारी है. उत्तराखंड समेत देश के कई राज्यों ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *