अखिलेश ने फर्जी ख़बर पर अमित शाह को घेरा

लखनऊ। भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा सोशल मीडिया पर सच्ची या झूठी खबर को वायरल करने को बढ़ावा देने वाले बयान पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की बड़ी प्रतिक्रिया आई है। दरअसल अमित शाह ने राजस्थान के कोटा में अपने संबोधन के दौरान अखिलेश यादव द्वारा मुलायम सिंह यादव को चाटा मारने वाली झूठी खबर का जिक्र भी किया था। साथ ही उन्होंने सच्ची व झूठी दोनों ही तरह की खबरों की सोशल मीडिया पर वायरल करने की भाजपा की ताकत की बात भी कही थी। अखिलेश यादव ने इसी को लेकर अमित शाह को जवाब देते हुए जनता से सतर्क रहने की बात कही।

अमित शाह ने कोटा में

दरअसल बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बीते शनिवार को राजस्थान के कोटा में पार्टी कार्यकर्ताओं, शक्ति केंद्र कार्यकर्ताओं और सोशल मीडिया वॉलिंटियर्स को संबोधित कर रहे थे जिसमें उन्होंने कहा कि उनका सोशल मीडिया संगठन इतना मजबूत है कि वो जैसा चाहें, वैसा संदेश जनता तक पहुंचा सकते हैं। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश में उनके पास 32 लाख लोगों का व्हाट्सअप ग्रुप है, जिसमें सभी सूचनाएं नीचे से ऊपर और ऊपर से नीचे तक जाती हैं। हम जो चाहें वो संदेश जनता तक पहुंचा सकते हैं, चाहे खट्टा हो या मीठा हो, चाहे सच्चा हो या झूठा हो।

मुलायम-अखिलेश की खबर का जिक्र

बीजेपी अध्यक्ष ने अखिलेश और सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव का फर्जी खबरा का उदाहरण पेश करते हुए कहा कि यूपी चुनाव के दौरान एक कार्यकर्ता ने व्हाट्सअप पर एक संदेश पोस्ट कर दिया कि अखिलेश यादव ने मुलायम सिंह यादव को चांटा मारा है। अब यह बात सच तो नहीं थी, लेकिन वो हर तरफ वायरल हो गया। मुझे लोगों के फोन आने लगे और लोग ताज्जुब होने लगे। अमित शाह ने हालांकि कार्यकर्ताओं को चेतावनी भी दी कि ऐसा करने से बने क्योंकि यह गलत है।

जनता झूठे बहकावे

अखिलेश यादव ने सोशल मीडिया ट्विटर पर अमित शाह के बयान को पेश करते हुए कहा कि देश के सत्ताधारी दल के अध्यक्ष अपने समर्थकों को झूठ बोलने और गलत खबर फैलाने के लिए उकसा रहे हैं। ये बात दर्शाती है कि हाल के उपचुनावों में पराजय से बौखलायी और आगामी चुनावों में हार से आशंकित भाजपा नैतिक दिवालियेपन की शिकार हो चुकी है, लेकिन अब जनता उनके झूठे बहकावे में आने वाली नहीं।

मुलायम सिंह यादव ने अपना रुख साफ

लोकसभा चुनाव के लिए पार्टियां अभी से गठबंधन को लेकर तैयार हैं। यह बात भी लगभग पूरी तरह से तय है कि शिवपाल सिंह यादव 2019 चुनाव के लिए पार्टियों से गठबंधन के लिए तैयार है। चुनाव आते-आते वो किसी भी दल का साथ दे सकते हैं। इस बीच मुलायम सिंह यादव जंतर-मंतर में बेटे अखिलेश का साथ देकर अपना रुख साफ कर चुके हैं। ऐसे में शिवपाल की क्या रणनीति होगी यह देखना बाकी है।

बड़े भाई को मोर्चे से चुनाव लड़ने का प्रस्ताव

इस बीच समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के संस्थापक और अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने दावा किया कि उन्होंने बड़े भाई मुलायम सिंह यादव को अपने मोर्चा से 2019 का चुनाव लड़ने का प्रस्ताव दिया है। उन्होंने यह दावा भी किया कि पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम का आशीर्वाद उन्हें मिला है। प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि महागठबंधन की बैठक में मुझे नहीं बुलाया गया। उसके बाद जितने भी समान विचारधारा के दल हैं और वे छोटे-छोटे 40 दल जिन्हें कोई नहीं पूछ रहा है,उन सभी को एकजुट कर संगठन बनाया है। वे सभी हमारे साथ जुड़ गए हैं।उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव सबकुछ तय कर देंगे। पूर्व सपा नेता ने कहा कि जल्द ही समाजवादी सेक्युलर मोर्चा की कमेटियों का गठन होने जा रहा है। सभी शहरों में भ्रमण कर कमेटियों के पदाधिकारियों को नाम तय कर उन्हें लोकसभा चुनाव का काम सौंपा जाएगा। मोर्चा से कितनी सीटों पर प्रत्याशी उतारने हैं, यह बात पूर्व मंत्री ने नहीं बताई, मगर उन्होंने कहा कि मजबूती से मोर्चा के प्रत्याशी चुनाव लड़कर जीत तय करेंगे।उन्होंने कहा कि हम जमीनी नेता हैं सीधे जनता से जुड़े हैं। हवा-हवाई काम नहीं करते और नही ऐसा बोलते हैं। सरकार में रहते हुए हमने कार्य किए हैं। प्रदेश की जनता हमें प्यार करती है। दफ्तर या घर में बैठकर बयान देने वाले नेता नहीं हैं।

About Samar Saleel

Check Also

हरियाणा: करनाल में 54 साल की महिला से गैंगरेप, आराेपियों की तलाश जारी

हरियाणा के करनाल में एक 54 साल की महिला के साथ गैंगरेप का मामला सामने ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *