Sadhana Bedi : CMS की पूर्व-प्रधानाचार्या की कोर्ट में पेशी आज

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, चौक शाखा की पूर्व प्रधानाचार्या Sadhana Bedi साधना बेदी एवं उनके पति अमरजोत सिंह बेदी को आर्थिक धोखा-धड़ी के आरोप में आज 29 सितम्बर को स्पेशल एडीशनल चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट (सी.बी.आई.) ए.पी., लखनऊ के कोर्ट तलब किया गया है।

Sadhana Bedi पर आर्थिक धोखा-धड़ी के आरोप

श्रीमती बेदी व उनके पति को माननीय न्यायालय में हाजिर होने के लिए दूसरी बार सम्मन जारी किया गया है। इससे पहले, 6 अगस्त 2018 को माननीय न्यायालय ने साधना बेदी व उनके पति अमरजोत सिंह बेदी के विरूद्ध सम्मन जारी कर उन्हें 10 सितम्बर 2018 को कोर्ट में पेश होने के आदेश दिये थे, परन्तु दोनों में से कोई भी कोर्ट में हाजिर नहीं हुआ, इसलिए उन्हें दोबारा सम्मन जारी कर आज 29 सितम्बर को कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया है।

विदित हो कि सुनील कुमार मेहरोत्रा ने श्रीमती बेदी के खिलाफ आर्थिक धोखा-धड़ी के आरोप में 15 अप्रैल 2018 को ठाकुरगंज थाने में भारतीय दंड संहिता (आई.पी.सी.) की धारा 420, 406, 504 एवं 506 के अन्र्तगत एफ.आई.आर. दर्ज करायी गयी थी। इस एफ.आई.आर. में श्री मेहरोत्रा ने कहा है कि साधना बेदी ने अंधेरे में रखते हुए मुझसे एवं मेरे परिवार के सदस्यों से 17.50 लाख रूपये ऋण के रूप में विभिन्न तिथियों में इस झूठे आश्वासन पर लिये कि यह धनराशि सिटी मोन्टेसरी स्कूल के लिए है, जो कि सरासर गलत है।

साधना बेदी ने उक्त ऋण की रसीदें सिटी मोन्टेसरी स्कूल के लेटरपैड पर दी। इस प्रकार साधना बेदी ने झूठ के आधार पर धोखाधड़ी से श्री मेहरोत्रा से पैसा लिया। इस एफ.आई.आर. के आधार पर पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट (जाँच रिपोर्ट) दायर की थी। कोर्ट ने चार्जशीट का संज्ञान लेते हुए श्रीमती बेदी एवं उनके पति अमरजोत सिंह बेदी को 29 सितम्बर को आज पुनः कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया है।

जानें क्या है मामला

विदित हो कि साधना बेदी ने धोखाधड़ी करके सिटी मोन्टेसरी स्कूल के लेटरपैड पर अनेकों लोगों से ऋण के रूप में लाखों रूपये विभिन्न तिथियों में लिए हैं, जिनमें से अधिकांश रसीदें वर्ष 2016 की हैं। साधना बेदी ने कई लोगों को अपने व्यक्तिगत बैंक खाते के चेकों द्वारा उनके द्वारा दिये गये ऋण का भुगतान भी किया है। साधना बेदी ने यह कह कर लोगों से पैसा लिया कि स्कूल को ऋण चाहिये जबकि स्कूल को उधार की कोई आवश्यकता नहीं थी और न ही साधना बेदी ने स्कूल प्रबन्धन को इस घोर आपराधिक कृत्य की कोई भनक लगने दी।
स्कूल मैनेजमेन्ट को आर्थिक धोखे-धड़ी की जानकारी मिलते ही साधना बेदी को जून 2017 में बर्खास्त कर दिया। इसके उपरान्त सी.एम.एस. प्रबंधन ने साधना बेदी के खिलाफ मई 2018 में एफ.आई. आर. दर्ज़ करायी है।

About Samar Saleel

Check Also

उत्तर प्रदेश बन गया हत्या प्रदेश : अखिलेश

लखनऊ।  समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश की खराब कानून-व्यवस्था पर योगी ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *