योगी का श्वेत पत्र,सफेद झूठ की किताब :अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा जारी श्वेत-पत्र को ‘सफेद झूठ की किताब’ करार देते हुए कहा कि योगी से राजपाट नहीं सम्भल रहा है और कोई काम नहीं करने वाली भाजपा आने वाले चुनाव में एक बार फिर कोई अफीमी मुद्दा उठाकर जीत हासिल करने की कोशिश करेगी।
अखिलेश ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सरकार ने अपने छह महीने का कार्यकाल पूरा होने से पहले पिछली सरकारों के कामकाज पर जो श्वेत-पत्र जारी किया है, वह सफेद झूठ की किताब है। जो सरकार पिछले छह माह में खुद कुछ नहीं कर सकी, वह बहकाने के लिये श्वेत-पत्र ला रही है। उन्होंने कहा कि अगर कोई उनसे मंत्रोच्चार करने या पूजा का इंतजाम करने को कहे तो वह शायद नहीं कर सकेंगे, उसी तरह मुख्यमंत्री योगी राजपाट नहीं चला पा रहे हैं। सपा अध्यक्ष ने कहा कि जनता को बहकाकर और धोखा देकर सत्ता में आयी योगी सरकार के पास विकास की कोई योजना नहीं है।
बाबा राम रहीम के साथ सभी प्रमुख भाजपा नेताओं की तस्वीरें हैं, इसलिये वह दूसरे मुद्दे (श्वेत-पत्र) उठा रहे हैं। मुद्दाविहीन यह पार्टी चुनाव के वक्त कुछ ऐसा बहकाने वाला कोई अफीमी मुद्दा लाएगी, जिससे बाकी सारे मुद्दे किनारे हो जाएंगे। हम जनता को इससे सावधान करना चाहते हैं। पूर्व मुख्यमंत्री ने एक शेर पढ़ते हुए योगी पर तंज किया और कहा कि कर्जमाफी के नाम पर किसानों के साथ असली धोखा तो भाजपा ने किया है। अब किसान खुद कह रहे हैं कि उनके साथ मजाक हुआ है। मुख्यमंत्री कर्जमाफी की खुशी में इतना विभोर हो गये कि उन्होंने उन किसानों के ऋणमोचन प्रमाणपत्र नहीं देखे, जिनका चंद पैसे कर्ज माफ हुआ है। अखिलेश का यह जवाब मुख्यमंत्री योगी के कल के उस पर तंज पर था जिसमें उन्होंने कहा था कि कर्जमाफी का मजाक उड़ाने वाले अखिलेश को किसान की परिभाषा नहीं मालूम है।

About Samar Saleel

Check Also

लम्बे समय से बीमार चल रहे पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का 66 साल की उम्र में निधन

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का शनिवार को दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *