खुद को ठगा महसूस कर रहा वाराणसी निवासी : अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा गंगा नदी में जहाज चलाकर कारोबार करना चाहती है। उसको स्वच्छ और निर्मल बनाने का उनका कोई इरादा नहीं है। गंगा आज भी उतनी ही मैली है। वाराणसी को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से बाहर कर दिया गया है। वाराणसी को क्योटो जैसा शहर बनाने का वादा था परन्तु उस दिशा में कुछ नहीं किया गया है। बस लम्बी-चैड़ी घोषणाएं करके ही जनता को बहलाया जा रहा है। लेकिन अब वाराणसी निवासी अपने को ठगा महसूस कर रहे हैं। अखिलेश यादव ‘फेकन्यूज‘ पर लखनऊ विश्वविद्यालय में आयोजित संवाद में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे।

फेकन्यूज को बढ़ावा देने वाले राष्ट्रवादी

उन्होंने कहा कि फेकन्यूज को बढ़ावा देने वाले राष्ट्रवादी बनते हैं लेकिन वे देश विरोधी काम कर रहे हैं। हिटलर-मुसोलिनी के जमाने में भी झूठा प्रचार होता था। दुःख और दुर्भाग्य की बात है कि सत्ता से लाभ लेने के लिए पढ़े-लिखे लोग भी इसमें शामिल हो जाते हैं। लेकिन गलत लोगों को सम्मान नहीं मिलना चाहिए। बुराई को बुराई बताया जाना चाहिए। अब तो फेकन्यूज के साथ फेंकू शब्द भी बन गया।

झूठ फैलाने का भी रोजगार

आज के दौर में झूठ फैलाने का भी रोजगार हो गया है। जो लोग समाज में नफ़रत फैला रहे हैं उनको बड़े लोग फालो कर रहे हैं। बंद कमरों में उन्हें सम्मान मिलता है। अभी चुनाव आने वाले है इसलिए अभी और झूठ आएगा। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी विकास से जीतना चाहती है। डाॅ0 लोहिया और डाॅ0 अम्बेडकर को जोड़कर चल रहे हैं। हम न तो अपने मुद्दों से हटेंगे और नहीं एक साथ चलने की विचारधारा छोडेंगे। झूठ से सच्चाई नहीं दबाई जा सकती है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि तकनीक का दुरूपयोग रोका जाना चाहिए। समाज में नफ़रत नहीं फैलाई जाए और समाज में खांई न बढ़े। बात बुनियादी मुद्दों पर होनी चाहिए। देश और समाज का अहित नहीं होने देना चाहिए। जागरूक समाज की जिम्मेदारी है कि अगर लगे कि फेक न्यूज है तो उसे बढ़ावा नहीं देना चाहिए।

किसान का हित उनकी प्राथमिकता नहीं

श्री यादव ने कहा कि हमारे काम का बड़े-बड़े लोग नाम नहीं लेते है। मेट्रो को छोड़कर श्मशान-कब्रिस्तान की बात होने लगती है। एक्सप्रेस-वे पर वायुसेना के युद्धक विमान उतरे, मालवाहक हरक्यूलिस जहाज उतरा। आज लड़ाई विचारधारा की है। एक ओर वे हैं जो चाहते हैं कि विकास नहीं हो। किसान का हित उनकी प्राथमिकता में नहीं।अखिलेश यादव ने कहा कि अच्छे दिन आने, 15 लाख रूपए खाते में जमा होने और 2 करोड़ नौकरियां मिलने के वादों में कोई सच्चाई नहीं है,यह बात जनता जान गई है। फसल बीमा योजना में घोटाला हो गया है अब तो एक पार्टी ने बहुत सारे व्हाट्सअप एप ग्रुप बनाए है जिनमें आठ घंटे झूठ फैलाने के लिए नौकरी दी जा रही है। हमारी लड़ाई भाजपा से है पर हम सच्चाई का साथ नहीं छोड़ेंगे।

About Samar Saleel

Check Also

बेहतर पुलिसिंग से क्राइम को कंट्रोल किया जायेगा: एसपी स्वप्निल

रायबरेली। नवागत पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगैन ने शुक्रवार की शाम कार्यभार ग्रहण कर लिया है। ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *