Jet airways को खरीदने को लेकर टाटा गंभीर

मुंबई। टाटा संस द्वारा जेट एयरवेज Jet airways को खरीदने के लिए गंभीर बातचीत होने की चर्चा फिर से सामने आई है। इस बार बातचीत में कुछ नए बिंदु भी खुलकर आए हैं। हालांकि टाटा समूह ने अभी भी इन्हें अटकलें करार दिया। बातचीत होने की जानकारी इस मामले से जुड़े सूत्रों ने दी। इस डील की बदौलत भारी-भरकम कर्ज से लदी निजी क्षेत्र की विमानन कंपनी डूबने से बच सकती है।

टाटा को Jet airways में

बातचीत से जुड़े दो लोगों ने बताया कि टाटा को Jet airways जेट एयरवेज में काफी दिलचस्पी है, लेकिन उसने अभी यह तय नहीं किया है कि सौदे का प्रारूप क्या होगा। चूंकि बातचीत बिल्कुल निजी स्तर पर चल रही है, लिहाजा सूत्रों ने पहचान जाहिर नहीं की। संपर्क करने पर टाटा संस की तरफ से कहा गया कि अटकलों पर टिप्पणी करना उसके लिए मुनासिब नहीं है। जेट एयरवेज ने भी टिप्पणी के लिए भेजे गए ई-मेल का कोई जवाब नहीं दिया।

बीएसई द्वारा कयासबाजी से जुड़ी खबरों पर स्पष्टीकरण मांगे जाने पर कंपनी ने कहा कि यह खबर अटकलों से भरी है और बोर्ड में ऐसी कोई चर्चा नहीं हुई है जिसे सार्वजनिक रूप से बताए जाने की जरूरत हो। लेकिन एक सूत्र ने बताया कि दोनों के बीच सौदे का एक तरीका यह हो सकता है कि टाटा जेट एयरवेज के विमान, पट्टे, पायलट और स्लॉट्स समेत सभी संपत्तियों का अधिग्रहण कर ले, लेकिन पूरी कंपनी न खरीदे। इस मामले में टाटा संस को यह समझना होगा कि कंपनी को मुनाफे में लाया जा सकता है या नहीं।

टाटा ग्रुप को यह भी समझना होगा कि लागत और रणनीतिक नजरिये से डील सही साबित हो सकती है या नहीं और यह भी कि विमानन क्षेत्र की उसकी अन्य कंपनियों के साथ जेट का तालमेल बिठाना किस हद तक संभव होगा। टाटा ग्रुप पहले से देश में दो विमानन कंपनियों का संचालन कर रही है। सिंगापुर एयरलाइंस के साथ फुल सर्विस प्रोवाइडर विस्तारा और एयरएशिया ग्रुप के साथ किफायती विमानन कंपनी एयरएशिया इंडिया में टाटा की हिस्सेदारी है। गोयल नियंत्रण छोड़ने को तैयार इससे पहले जेट एयरवेज के चेयरमैन नरेश गोयल ने रतन टाटा और मुकेश अंबानी से अपनी कंपनी को संकट से उबारने के लिए मदद मांगी थी।

 

About Samar Saleel

Check Also

बारिश की वजह से टमाटर के साथ प्याज़ भी लोगों को देने लगा आंसू, यह है नया मूल्य

टमाटर के बाद अब प्याज भी लोगों को आंसू देने लगा है. वैसे टमाटर भी फुटकर में ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *