Apple देगी पीड़ितों को नौकरी

प्रमुख स्मार्टफोन कंपनी एपल Apple ने कहा कि वह मानव तस्करी के पीड़ितों को दुनियाभर में अपने रिटेल स्टोर्स में नौकरी देगी। यह बात कंपनी ने स्टॉप स्लैवरी पुरस्कार हासिल करने के बाद कही।

Apple  कंपनी को आधुनिक

एपल Apple कंपनी को आधुनिक दासता को खत्म करने की कोशिश के तहत अपनी सप्लाई चेन का विवरण सार्वजनिक करने के लिए यह पुरस्कार दिया गया। वर्ष 2012 से कंपनी कहती रही है कि उसने अपनी सप्लाई चेन में कम उम्र के कामगारों की संख्या घटाई है। इनमें बहुत से कामगार तो स्मार्टफोन में उपयोग होने वाले दुर्लभ पदार्थों के खनन जैसे कामों में लगे थे।
कई श्रमिक अधिकार संगठनों ने ओवरटाइम, कम उम्र लोगों को काम पर रखने और स्वास्थ्य बीमा देने में विफल रहने के लिए एपल और उसके सबसे बड़े उत्पादन साझेदार फॉक्सकॉन की पहले कई मौकों पर आलोचना की थी।

लंदन में थॉम्प्सन रायटर फाउंडेशन के ट्रस्ट सम्मेलन के दौरान एपल की रिटेल प्रमुख एंजीला अहरेंट्स ने कहा कि बड़ी संख्या में लोगों के जीवन को छूने वाली कंपनी के रूप में हमारी बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। मानव तस्करी के पीड़ितों को अपनी अंतरराष्ट्रीय रिटेल टीम में शामिल कर उनके लिए उम्मीद की किरण बनने का हमारे पास बहुत बड़ा अवसर है।
थॉम्प्सन रायटर्स फाउंडेशन स्टॉप स्लैवरी अवार्ड उन कंपनियों को दिया जाता है, जो अपनी आपूर्ति श्रृंखलाओं से बंधुआ मजदूरी को खत्म करने, उनकी पहचान करने और उससे संबंधित जांच की पहल करती हैं। एपल ने कहा कि उसने ठेके पर काम करने वाले 35,000 विदेशी कामगारों को तीन करोड़ डॉलर भी वापस किए हैं, जिन्हें कंपनी की नौकरी पाने के लिए बहुत अधिक शुल्क चुकाना पड़ा था।

उपभोक्ता वस्तु कंपनी यूनिलीवर को भी यह सालाना पुरस्कार मिला। जबकि वित्तीय सेवा कंपनी स्टैंडर्ड चार्टर्ड और थाइलैंड की सीफूड उत्पादक कंपनी थाई यूनियन को उनके काम के लिए बहुत अधिक सराहना मिली।

 

About Samar Saleel

Check Also

बारिश के कारण प्याज से परेशान हुए राजधानी के लोग, चरम पर पहुंचे दाम

 प्याज के बढ़ते दामों से सभी लोग बहुत ज्यादा परेशान हैं. इस समय देश की राजधानी में प्याज ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *