योगी सरकार ने सार्वजनिक अवकाश 44 से घटाकर किया 25

लखनऊ। योगी सरकार ने प्रशासनिक सुधारों के मद्देनजर वर्ष 2018 में सार्वजनिक अवकाश में कटौती करते हुए 44 से घटाकर 25 दिन कर दिया है। प्रदेश सरकार ने वर्ष 2018 के लिये सार्वजनिक अवकाश की सूची जारी की है। इनमें 25 दिन की सार्वजनिक तथा 30 दिन की निर्बन्धित छुट्टियां दी गयी हैं। हालांकि, सरकारी कर्मचारियों के लिए निर्बन्धित छुट्टियों की संख्या को वर्ष में 16 से बढ़ाकर 30 दिन किया गया है। राज्य कर्मचारी एक वर्ष में केवल दो निर्बन्धित छुट्टियों का लाभ उठा सकते हैं। दो छुट्टियां रविवार के दिन होने के कारण वर्ष 2018 में राज्य कर्मचारियों का दो दिन का नुकसान होगा। वर्ष 2018 में राम नवमी और रक्षाबंधन रविवार को है। आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां बताया कि सरकार ने मकर संक्रांति, बसंत पंचमी, चेति चंद, परशुराम जयंती, विश्वकर्मा पूजा और चौधरी चरण सिंह की जयंती पर सार्वजनिक छुट्टियों की सूची से हटा दिया है। हालांकि, सरकार ने कर्मचारियों को इन दिनों में निर्बन्धित छुट्टी लेने की अनुमति दी है। सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी छुट्टियों की सूची के अनुसार, 2018 में पहली सार्वजनिक अवकाश 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस होगा और अंतिम 25 दिसंबर को क्रिसमस होगा। अगले साल, दूसरे शनिवार और रविवार को छोड़कर मई और जुलाई में राज्य कर्मचारियों के लिए कोई सार्वजनिक अवकाश नहीं होगा। सचिवालय के कर्मचारियों और सरकारी विभागों के प्रमुख कार्यालयों में प्रत्येक शनिवार को छुट्टी मिलती है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गत 19 मार्च को कार्यभार ग्रहण किया था। उन्होंने महापुरूषों की जन्मतिथि और पुण्यतिथि पर छुट्टी दिये जाने पर नाराजगी व्यक्त की थी। उन्होंने स्कूलों में जन्मदिन के दिन के अवसर पर महापुरूषों के व्यक्तित्व के बारे में जानकारी देने के लिये छुट्टियां न कराये जाने का आदेश दिया था। अप्रैल से राज्य सरकार ने इस संबंध में 15 सार्वजनिक अवकाश रद्द कर दिए थे। सरकार ने 14 अक्तूबर को डॉ0 भीमराव अंबेडकर और दो अक्टूबर को महात्मा गांधी की जयंती पर छुट्टियां बरकरार रखीं। राज्य मंत्रिमंडल ने एक प्रस्ताव लाकर 15 सार्वजनिक अवकाशों को निरस्त कर दिया था। कार्यक्रमों के माध्यम से छात्रों को महापुरूषों के व्यक्तित्व के बारे में पढ़ाया जाये। बड़ी संख्या में सरकारी छुट्टियों के निरस्त हो जाने का असर छात्र-छात्राओं की पढ़ाई पर भी पड़ा है।
उत्तर प्रदेश में, 44 सार्वजनिक छुट्टियां हैं, जिनमें से 17 व्यक्तियों के जन्मदिनों से संबंधित हैं। पिछली समाजवादी पार्टी सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर (17 अप्रैल), महर्षि कश्यप और महर्षि निशादराज (05 अप्रैल), हारत अजमेरी ग़रीब नवाज उर्स (26 अप्रैल), महाराणा प्रताप (09 मई) के जन्मदिन पर सार्वजनिक छुट्टियां घोषित की थी। इसके अलावा अम्बेडकर की पुण्यतिथि (06 दिसंबर) के अवसर पर छुट्टी घोषित की थी।

About Samar Saleel

Check Also

प.बंगाल: श्रद्धालुओं पर गिरी मंदिर की दीवार, 4 की मौत, CM ने किया मुआवजे का ऐलान

पश्चिम बंगाल में कृष्ण जन्माष्टमी के दिन मंदिर में बड़ा हादसा हो गया है, यहां ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *