अब ट्रेन में खाली सीटें आधी कीमत पर होगी उपलब्ध,जाने क्या है नया नियम

नई दिल्ली। रेल में यात्री करने वाले लोगों के लिए अब एक अच्छी खबर है,ट्रेन में सीटें खाली रहने पर रेलवे मुसाफिरों को डिस्काउंट देने जा रहा है। इस नए नियम के लागू हो जाने के बाद यात्री रिजर्वेशन चार्ट बनने के बाद भी छूट पाकर सस्ते में टिकट बुक करा सकते हैं और डिस्काउंट की सीमा 50 फीसद तक पहुंच सकती है। दरअसल रेलवे को डायनेमिक प्राइसिंग मॉडल के तहत इस तरह के प्रस्ताव मिल रहे हैं। रेलवे की उच्चस्तरीय कमेटी के पास ट्रेनों को 3 श्रेणियों में बांटने का प्रस्ताव आया है। इस प्रावधान सरकार की मंशा सिर्फ इतनी है कि रेलवे की कमाई में तो लगातरा इजाफा हो रहा है लेकिन यात्रियों की संख्या में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है।पिछले साल रेलवे ने कुछ प्रीमियम ट्रेनों में फ्लैक्‍सी फेयर मॉडल शुरू किया था। इसके तहत पीक ऑवर में ट्रेनों का किराया बढ़ जाता है। इससे रेलवे की कमाई तो बढ़ी है लेकिन यात्री कम हो गए हैं। पश्चिमी रेलवे की एक रिपोर्ट के मुताबित फ्लैक्‍सी फेयर की वजह से इस जोन में जनवरी से अक्‍टूबर 2017 के बीच लगभग 1.34 लाख यात्री घटे,जबकि इस दौरान पश्चिमी रेलवे ने करीब 54 करोड़ रुपए ज्यादा कमाई की। इस दौरान द्वितीय श्रेणी एसी का किराया हवाई यात्रा के किराए से ज्यादा हो गया।

हवाई यात्रा की तरह बढ़ेगा रेल किराया: पिछले दिनों रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा था कि अब रेलवे का किराया हवाई यात्रा की तरह डायनेमिक प्राइसिंग मॉडल से तय होगा। इसके तहत किराया बढ़ेगा भी और घटेगा भी, यानी सीटें खाली रहने पर किराए में डिस्‍काउंट दिया जाएगा। इसके लिए एक उच्चस्तरीय कमेटी बनाई गई है।

क्या हैं नए प्रस्ताव: रेलवे की कमेटी के पास प्रस्ताव आया है कि ट्रेनों को यात्री सुविधाओं,समय की पाबंदी और कैटरिंग सेवाओं के आधार पर तीन श्रेणियों में बांटा जाएगा। जिसमें सुपर प्रीमियम ट्रेन,प्रीमियम ट्रेन और नॉन प्रीमियम ट्रेने शामिल होंगी। इसके अलावा पूरे साल को छुट्टियों,त्‍योहारों,मैरिज और परीक्षाओं के सीजन के आधार पर पीक,नॉन पीक और स्‍लैक सीजन में बांटा जाएगा। पीक सीजन में सुपर प्रीमियम ट्रेनों का किराया ज्यादा बढ़ाया जाएगा,जबकि नॉन पीक सीजन में थोड़ा और स्‍लैक सीजन में छूट दी जाएगी। इसी तरह पीक सीजन में प्रीमियम ट्रेनों का किराया थोड़ा बहुत ही बढ़ाया जाएगा,लेकिन नॉन-पीक और स्‍लैक सीजन में बेस रेट पर या किराए में छूट दी जाएगी। इसी तरह नॉन प्रीमियम ट्रेन में भी पीक सीजन में थोड़ा-बहुत किराया बढ़ाया जाएगा,जबकि नॉन-पीक में भारी छूट दी जा सकती है

About Samar Saleel

Check Also

INX मामले में कभी भी हो सकती है चिदंबरम की गिरफ्तारी, नहीं मिली अग्रिम जमानत

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को दिल्ली हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है। हाईकोर्ट ने ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *