क्या परमात्मा ऐसा भी हो सकता है: डा0 जगदीश गांधी

लखनऊ। शिक्षाविद् डा0 जगदीश गांधी ने अपने शब्दों में सभी धर्मों को सर्वश्रेष्ठ बताते हुए परमात्मा की एकता को व्यक्त करते हुए एकता का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि क्या परमात्मा ऐसा भी हो सकता है? गीता, त्रिपटक, बाईबिल, कुरान, गुरु ग्रंथ साहिब, किताबें अकदस आदि सभी पवित्र पुस्तकों में दी गई शिक्षाओं को भेजने वाला परमात्मा न तो हिन्दू है, न बौद्ध है, न मुस्लिम है, न सिख है, न ईसाई आदि। जबकि हम अज्ञानतावश यह समझते हैं कि गीता में दी गई शिक्षायें केवल हिन्दू धर्म को मानने वालों के लिए, त्रिपटक में दी गई शिक्षायें केवल बौद्ध धर्म को मानने वालों के लिए, कुरान में दी गई शिक्षायें केवल मुस्लिम धर्म को मानने वालों के लिए, गुरू ग्रंथ साहिब में दी गई शिक्षायें केवल सिख धर्म को मानने वालों के लिए, बाईबिल में दी गई शिक्षायें केवल ईसाई धर्म को मानने वालों के लिए तथा किताबें अकदस में दी गई शिक्षायें केवल बहाई धर्म को मानने वालों के लिए ही हैं।

About Samar Saleel

Check Also

प.बंगाल: श्रद्धालुओं पर गिरी मंदिर की दीवार, 4 की मौत, CM ने किया मुआवजे का ऐलान

पश्चिम बंगाल में कृष्ण जन्माष्टमी के दिन मंदिर में बड़ा हादसा हो गया है, यहां ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *