राज्यसभा में नहीं बोल सके सचिन

नई दिल्ली। भारी हंगामे और क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन रमेश तेंदुलकर को राज्यसभा में बोलने न देने के कारण सभापति वैंकेया नायडू ने सदन को आज अचानक स्थगित कर दिया। बोलने के लिए खड़े हुए सचिन की ओर इशारा कर सभापति ने विपक्ष से कहा कि भारतरत्न सचिन को कृपया सदन में बोलने में दें। यह उनकी पहली (मेडन) स्पीच है। लेकिन विपक्ष का हंगामा नहीं रुकने के कारण उन्हें अपनी स्पीच सदन में स्थगित करनी पड़ी।
मांफी पर अड़ा विपक्ष, हंगामा
विपक्ष इस मांग पर अड़ा था कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर लगाए गए आरोपों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सदन में माफी मांगें। सभापित ने कहा कि इस बारे में विपक्ष और सत्तारूढ़ दल के नेता आपस में बैठकर मुद्दे पर बातचीत कर चुके हैं। यह ठीक है कि इसका कोई नतीजा नहीं निकला था। लेकिन अब सदन में खिलाड़ी को तो बोलने दीजिए, वह खेल पर बात करेंगे। लेकिन विपक्ष अपनी सीटों पर खड़े होकर हंगामा और नारेबाजी करते रहे। नायडू ने कहा कि आप लोगों में खेल की भावना ही नहीं है। मैं इस हंगामे को रिकार्ड में नहीं जाने दूंगा। उन्होंने कहा कुछ तो शर्म कीजिए। इसके बाद उन्होंने राज्यसभा टीवी से कहा कि इस हंगामे की लाइव कवरेज बंद कर दें। क्योंकि जनता में यह हंगामा दिखाना उचित नहीं होगा। मगर इसके बाद भी हंगामा चलता रहा, सचिन अपनी जगह पर चुपचाप 10 मिनट तक खड़े रहे। सभापति ने सचिन से कहा, आप बोलिए। उन्होंने जैसे ही बोलने के लिए अपना मुंह खोलना चाहा कि हंगामा और बढ़ गया। इस पर सभापति ने कार्यवाही अगले दिन 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। इससे पहले सुबह कांग्रेस नेताओं की नारेबाजी के कारण सदन को दो बजे तक स्थगित कर दिया गया।

About Samar Saleel

Check Also

पूर्व सांसदों को एक हफ्ते में सरकारी बंगला खाली करने का निर्देश, तीन दिन में कटेगा बिजली-पानी का कनेक्शन

17वीं लोकसभा गठन के बाद अब जल्द ही पूर्व सांसदों को एक हफ्ते में सरकारी ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *