दुष्कर्मी बाबा वीरेन्द्र देव दीक्षित नहीं हुआ कोर्ट में पेश

नई दिल्ली। देश में बाबाओं की करतूतों का कारनामा थमने का नाम नहीं ले रहा है। बाबा परमानंद, बाबा राम रहीम के बाद अब बाबा वीरेन्द्र देव दीक्षित का नाम सामने आया है। जिसके खिलाफ अब तक उत्तर प्रदेश, दिल्ली और राजस्थान में कुल 11 केस दर्ज किये जा चुके हैं। अदालत में चालाक बाबा वीरेन्द्र देव ने जांच के लिए कहा है। जबकि बाबा के खिालाफ अब तक 41 लड़कियों ने बयान दिये हैं। जिनको कुकर्मी बाबा वीरेन्द्र देव दीक्षित के चंगुल से छुड़ाया गया है।
धर्म के नाम पर कुकर्मी का अधर्म
दरअसल वीरेन्द्र देव धर्म के नाम पर अपना धंधा चलाता था। बाबा के आश्रम में एक बार अंदर जाने के बाद लोगों को जान से मारने के लिए धमकाया जाता था। लोगों को दूध में नशीला पदार्थ मिलाकर कुकर्म करता था। जो पीड़ित इस बाबा की शरण में गये उन्होंने खुद अपने बयान में कहा कि आध्यात्मिक विश्वविद्यालय में कुकर्म के लिए विवश किया जाता है। अगर उनका कहना नहीं माना जायेगा तो सीधे मौत के घाट उतार दिया जाता है। ऐसे कई केस होने के बाद कैंपस में रहने वाली महिलाओं और लड़कियों। जिससे कोई भी उसके कुकर्मों का खुलासा करने से भी डरता था।

About Samar Saleel

Check Also

INX मामले में कभी भी हो सकती है चिदंबरम की गिरफ्तारी, नहीं मिली अग्रिम जमानत

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को दिल्ली हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है। हाईकोर्ट ने ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *