एसडीएम के आदेश को न मानने वाला एसएचओ

बाराबंकी। एसएचओ बीपी यादव का नाम बाराबंकी जिले में काफी चर्चित है। पुलिस विभाग के ये उन अफसरों में सुमार हैं, जो प्रशासनिक अधिकारियों की कभी नहीं सुनते और शिकायत करने वाले को नाको चने चबवाने में माहिर हैं। जिनका सिक्का कभी सपा सरकार में चलता था, जो योगी सरकार के आते ही फीका पड़ गया है। दरअसल काले कारनामों को अंजाम देने के लिए इनका नाम मशहूर है, किसी को झूठे आरोप में फंसाना हो या कोई अवैध काम करवाना हो। यह सब उनके बायें हाथ का खेल है।
दागी एसएचओ के काले कारनामे
मामला बाराबंकी के त्रिवेदीगंज का है जिसमें पीड़ित युवक ने दरोगा की शिकायत एसडीएम हैदरगढ़ से कर दी। जिसके बाद एसएचओ के आदेश पर काम में हेरफेर करने वाले दरोगा का पारा सातवे आसमान पर पहुंच गया और कहासुनी के बाद उसने मारपीट कर लिया। जिससे मामला बिगड़ गया। यह कोई पहला मामला नहीं है। इसके पहले भी नवाबगंज तहसील अंतर्गत रेंदुआ, छतेना व गढ़ी अंतर्गत कई मामलों में एसडीएम के आदेशों का उल्लंघन कर चुका है। इसके साथ अवैध कब्जेदारों और दबंगों के सह पर पीड़ितों पर फर्जी मुकदमें भी दर्ज करवाये हैं। सूत्रों के अनुसार विवादों में रहा एसएचओ पहले भी कई दरोगाओं से अवैध काम करवाता रहा है। जिसमें देवां थाना क्षेत्रान्तर्गत दो नाबालिग बच्चों को मौत के मुंह में धकेलना हो या पीड़ितों का शोषण और फर्जी मुकदमें दर्ज करवाने के साथ अन्य अवैध कृत्य करवाने के मामले हो।

About Samar Saleel

Check Also

बेहतर पुलिसिंग से क्राइम को कंट्रोल किया जायेगा: एसपी स्वप्निल

रायबरेली। नवागत पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगैन ने शुक्रवार की शाम कार्यभार ग्रहण कर लिया है। ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *