शौचालय निर्माण व प्रधानमंत्री आवास योजना में धांधली

शाहजहांपुर। एक ओर जहाँ सरकार खुले में शौचमुक्त करने के लिए भारत भर में स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत गांव-गांव शहर-शहर शौचालय का निर्माण कराने में करोड़ों रुपया खर्च कर रही है वहीं दूसरी ओर ग्राम प्रधान अधिकारियों की मिलीभगत से लाखों रुपया डकार कर अभियान को पलीता लगाने का काम कर रहे हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार ताजा मामला जिले के खुदागंज की ग्राम पंचायत मकरंदपुर उर्फ धीमररपुर में देखने को मिला है। यहां शौचालय व आवास में कार्यवाहक प्रधान और अधिकारियों की धांधली का मामला सामने आया है। कार्यवाहक प्रधान अधिकारियों की मिलीभगत से पिछली पंचवर्षीय योजना में बनवाए गए शौचालयों को इस पंचवर्षीय कार्यकाल में दर्शाकर दोबारा सरकारी पैसों की बंदरबांट करने में जुटा है। पूर्व में निर्मित अधिकतर शौचालय निर्माण में गुणवत्ता का ध्यान न रखकर पीला ईट का प्रयोग किया गया है। इसी तरह प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत इस गांव में बनवाए गए अधिकतर आवास या तो मानक के विपरीत बने हुए हैं या फिर आधे अधूरे पड़े हैं। कहीं कहीं तो एक ही परिवार के लोगों को दो-दो आवास दे दिए गए हैं। ऐसे ही कई मामले सिधौली क्षेत्र की ग्राम पंचायत इमलिया हमीदपुर ग्राम पंचायत भंडारी जैसे गांवों में देखने को मिली है।

About Samar Saleel

Check Also

अनुदानित मदरसें होंगे हाईटेक

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार राज्य के मान्यता प्राप्त अनुदानित मदरसों को अब और आधुनिक बनाएगी। ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *