जाधव: पाक की नापाक दलीलें

पाकि‍स्‍तानी जेल में बंद कुलभूषण जाधव एक बार फिर चर्चा में हैं। आज उनके लिए बहुत खास दिन है क्‍योंकि उनकी पत्नी और मां ने इस्लामाबाद में उनसे मिलकर लगभग 30 मिनट तक बातचीत की मालूम हो कि जाधव जासूसी के आरोप में पाकिस्तान की जेल में बंद हैं। पाक‍िस्‍तान उन्‍हें फांसी की सजा भी सुना चुका था ले‍क‍िन ICJ ने इन वजहों से रोक दिया था। आइये जानते हैं उनकी फांसी पर रोक क्यों लगाई गई है।
सुनाई थी फांसी की सजा:-
हाल ही में पाकिस्तान ने बीस दिसंबर को कूलभूषण जाधव की पत्नी और मां को वीजा जारी किया था। ऐसे में आज उनकी मां और पत्‍नी उनसे मिलने इस्लामाबाद पहुंच और उनसे मिलकर बातचीत की। कुलभूषण जाधव भारत के पूर्व नेवी ऑफिसर रहे हैं। 29 मार्च 2016 को पाकिस्तान ने इन्हें बलूचिस्तान से गिरफ्तार कर इनको भारतीय खुफ‍िया एजेंसी रॉ का एजेंट बताया था।
पूर्व नौसेना अधिकारी:-
वहीं भारत भी कुलभूषण जाधव की भारतीय नागरिकता और पूर्व नौसेना अधिकारी होने की पुष्टि कर चुका है। ऐसे में पाकिस्तान की मिलिट्री कोर्ट ने इस मामले में तेजी दिखाते हुए 10 अप्रैल 2017 को इन्हें फांसी की सजा सुना दी थी। पाक‍िस्‍तान के इस कदम से भारत हैरान था और उसने इस मामले को लेकर द इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) का दरवाजा खटखटाया।
आईसीजे ने नकारी पाक की दलीलें:-
इस दौरान भारत को इस मामले में एक बड़ी कामयाबी मिली थी। आईसीजे का कहना था कि पाक की दलीलों से यह अभी कुछ साफ नहीं हो पा रहा है। ऐसे में उसने पाक‍ की दलीलो को नकारते हुए कहा कि पाकिस्तान का ये दावा सही नहीं है कि जाधव जासूस थे। इसलिए आईसीजे ने अभी इस मामले में अंतिम फैसला आने तक कुलभूषण की फांसी पर रोक लगा दी है।

About Samar Saleel

Check Also

ट्रंप ने की इमरान खान से बातचीत, कहा- भारत के खिलाफ तीखी बयानबाजी से बचें

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कश्मीर मसले को ‘कठिन परिस्थिति’ मानते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *