बीएचयू से निलंबित छात्रों की एजुकेशनल सुविधाएं निरस्त

वाराणसी। छात्र नेता आशुतोष सिंह की गिरफ्तारी के बाद बीएचयू परिसर में बवाल करने के मामले में बीएचयू प्रशासन ने गुरुवार की देर रात 13 छात्रों को निलंबित कर दिया। बीते 20 दिसम्बर को लंका पुलिस ने कई मामलों में वांछित समाजवादी छात्रसभा के नेता आशुतोष सिंह को गिरफ्तार कर लिया था। इसके विरोध में एक दर्जन से अधिक छात्रों ने घंटेभर परिसर में उत्पात मचाया। एक निजी स्कूल बस में आग लगाई। वहीं कई बाइकों को तोड़ दिया। मरीजों, तीमारदारों एवं आम लोगों से भी मारपीट की गई। इसको लेकर बीएचयू प्रशासन ने लंका थाने में गौरव कुमार, शुभम तेवतिया, बिट्टू कुमार सिंह, गुलाम सरवर, प्रवीण राय, गौरव कुमार, अभिजीत मिश्रा, रुदप्रताप सिंह, सौरभ राय, प्रतीक तिवारी, लक्ष्मी नारायण शर्मा, सत्यम राय, धीरज सिंह, हिमांशु प्रभाकर समेत 15 छात्रों के खिलाफ नामजद तहरीर दी थी।

सीसीटीवी से पहचान के आधार पर गिरफ्तारी

सीसीटीवी फुटेज में पता चला कि दो छात्र मौजूद नहीं थे। लेकिन बाद में छात्र गुलाम सरवार का नाम सामने आया। इसको लेकर पुलिस ने छापेमारी की, लेकिन गुलाम सरवर को छोड़कर किसी अन्य की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। इसी दौरान लंका थाना प्रभारी संजीव मिश्रा ने बीएचयू प्रशासन को छात्रों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए पत्र लिखा जिसके बाद प्रशासन ने इन छात्रों को निलंबित कर दिया है।

आरोपी छात्रों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीम लगातार छापेमारी कर रही है। एसओ संजीव मिश्रा ने बताया कि पुलिस की टीम बिहार, राजस्थान, चंदौली, सोनभद्र समेत कई जगहों पर गई हैं और छात्रों के निवास पर नोटिस भी चस्पा किया। जल्द ही छात्रों के गिरफ्तारी की उम्मीद है।

About Samar Saleel

Check Also

प.बंगाल: श्रद्धालुओं पर गिरी मंदिर की दीवार, 4 की मौत, CM ने किया मुआवजे का ऐलान

पश्चिम बंगाल में कृष्ण जन्माष्टमी के दिन मंदिर में बड़ा हादसा हो गया है, यहां ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *