Breaking News

24 लाख दीये, लेजर शो और नया वर्ल्ड रिकॉर्ड; जानिए अयोध्या में आज क्या-क्या है खास?

अयोध्या (Ayodhya) में इस बार दो बार दिवाली (Diwali) मनाई जाएगी. एक दिवाली 12 नवंबर को मनाई जाएगी और दूसरी दिवाली 22 जनवरी को मनाई जाएगी. जब भव्य राम मंदिर (Ram Mandir) का उद्घाटन होगा. दोनों ही उत्सव अयोध्या के लिए एक ऐतिहासिक पल होंगे. अयोध्या में इन दोनों ही दिवाली की तैयारियां चल रही हैं. दिव्य दिवाली के लिए अयोध्या को सजाया जा रहा है और राममंदिर को भी उद्घाटन के लिए फाइनल टच दिया जा रहा है. लेकिन पहले बात इस दिवाली की करते हैं. जिसके लिए पूरी अयोध्या दुल्हन सी सज गई है. रामजन्म भूमि पथ से लेकर राम मंदिर तक सब की छटा निराली है. अयोध्या में एक अलौकिक दृश्य दिख रहा है.

अयोध्या की दिवाली को दिव्य बनाने के लिए इस बार भी रामनगरी को दीयों से जगमग करने की तैयारी हो रही है. इस बार अयोध्या के 51 घाटों पर 24 लाख दीये जलाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया जाएगा. वैसे तो अयोध्या की दिवाली हर साल ही दिव्य होती है. लेकिन इस बार दिवाली पर अयोध्या कुछ ज्यादा ही उत्साहित हैं. पिछले 6 सालों से अयोध्या का दीपोत्सव वर्ल्ड रिकॉर्ड बना रहा है और हर साल अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ रहा है. इस बार भी ये परंपरा जारी रहने वाली है.

सरयू किनारे लेजर शो के जरिए श्रीराम के जीवन की झांकी पेश की जाएगी. रूस, श्रीलंका, सिंगापुर और नेपाल के कलाकार दीपोत्सव में रामलीला का मंचन करेंगे. हर साल की तरह इस साल भी दिवाली पर भी अयोध्या में त्रेतायुग के दर्शन होंगे. साधु-संत से लेकर आम जन तक, हर रामभक्त राममंदिर निर्माण पूरा होने का इंतजार कर रहा था और अब ये इंतजार खत्म होने वाला है. तो इस बार अयोध्या में डबल दिवाली मनेगी.

दिवाली के मौके पर सजी अयोध्या वैसी ही दिख रही जैसे त्रेता युग में अयोध्या थी. जिसका वर्णन गोस्वामी तुसलीदास ने अपनी रामचरित मानस में किया है. इस बार यूपी के साथ कई प्रदेशों की संस्कृति से रूबरू कराया जाएगा. योगी सरकार धोबिया, फरुआही, राई, छाऊ लोकनृत्य को भी वैश्विक मंच दे रही है.

About News Desk (P)

Check Also

उत्तर रेलवे ने स्टेशनों पर पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए प्रयास तेज किए

नई दिल्ली। गर्मी के मौसम में संभावित गर्मी की लहरों की आशंका को देखते हुए, ...