Breaking News

छावनी के तोपखाना बाजार स्थित कोविड केयर अस्पताल में 29 अप्रैल से भर्ती हो सकेंगे कोरोना मरीज

लखनऊ। कोरोना महामारी की विभीषिका को देखते हुए छावनी परिषद प्रशासन ने तोपखाना बाजार स्थित आर ए बाजार माध्यमिक विद्यालय में 40 बेड के कोविड केयर अस्पताल और सेल्फ आक्सीजन प्लांट की स्थापना की गई है। यहां बुधवार (28अप्रैल) से फीवर क्लिनिक ओपीडी और टेलीमेडिसिन की सुविधा शुरू हो जाएगी। फीवर क्लिनिक ओपीडी में कोविड संक्रमित मरीज भी आकर कोई समस्या होने पर अपना इलाज करा सकेंगे। जबकि इस कोविड केअर अस्पताल में कोरोना संक्रमित मरीजो की भर्ती गुरुवार (29 अप्रैल) से शुरू हो जाएगी।

बताते चलें कि पिछले दिनों हुई वैरी बोर्ड की मीटिंग में जीओसी मेजर जनरल राजीव शर्मा और मुख्य अधिशासी अधिकारी विकास कुमार ने 40 बेड के एल-1 श्रेणी के अस्पताल को संचालित करने की मंजूरी दी थी। इसके अलावा रक्षा सम्पदा महानिदेशालय के उपनिदेशक राजेश कुमार शाह ने भी सभी कमान मुख्यालयों को आदेशित किया था कि सभी छावनी परिषद अपने अस्पतालों में कोरोना उपचार की सुविधाएं विकसित करें।

तोपखाना में आर. ए. बाजार माध्यमिक विद्यालय में विकसित किए गए इस कोविड केयर अस्पताल में एल-1 श्रेणी के 40 बेड लगाये गये हैं। इनमें से 22 बेड पर 24 घंटे आक्सीजन की सुविधा उपलब्ध रहेगी। इसके लिए स्कूल के कोविड केयर अस्पताल में ही एक मिनी आक्सीजन प्लांट भी लगाया गया है। इस संबंध में परिषद प्रशासन ने आक्सीजन के लिए सीएमओ को पत्र लिखा है। लेकिन अभी तक मंजूरी न मिलने के चलते छावनी परिषद प्रशासन ने आक्सीजन की आत्मनिर्भरता के लिए अपना प्लांट विकसित करने की योजना बनाई है।

सूत्रों के अनुसार इस अस्पताल के 40 बेड में से 30 बेड सीएमओ को सौंपे जाएंगे जबकि 10 बेड छावनी परिषद के कोरोना वारियर्स और कर्मचारियों के लिए आरक्षित रहेंगे। मुख्य अधिशासी अधिकारी विकास कुमार के अनुसार नीता मेमोरियल पालीक्लीनिक पीपीपी माडल के तहत लोगों को टेली मैडिसिन की सुविधा भी दी जाएगी। इसके अलावा अस्पताल में कोविड मरीजों के लिए फीवर क्लीनिक और जन औषधि केन्द्र भी शुरू किया जाएगा। उन्होने बताया कि इस कोविड अस्पताल में आरटीपीसीआर जाँच केन्द्र और वैक्सिनेशन के लिए सीएमओ को पत्र लिखा गया है। मंजूरी मिलते ही ये सुविधाएं भी नागरिकों को उपलब्ध कराई जाएंगी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार इस अस्पताल को रक्षा मंत्रालय के आदेश पर पीपीपी मॉडल के तहत तैयार किया गया है। जिसमें 40 बेड होंगे। इन 40 बेड में से 22 बेड पर ऑक्सीजन की सुविधा मिलेगी। इसके लिए 17 लाख रुपए की लागत से एक मिनी ऑक्सीजन प्लांट भी यहां लगा दिया गया है। पीपीपी मॉडल पर अस्पताल होने के बावजूद यहां छावनी परिषद का नियंत्रण रहेगा। उपचार में होने वाला खर्च सीजीएचएस की दर से ही लिया जाएगा। मंगलवार (27 अप्रैल) को इस अस्पताल में बेड की उपलब्धता भी करा दी गई है। इस अस्पताल में जहां 24 घंटे डॉक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ की उपलब्धता रहेगीं वही कोविड मरीजो के लिए दवाओं की भी होम डिलीवरी रहेगी। कोरोना मेडिकल किट जन औषधि केंद्र से कम दर पर वितरित की जाएगी। यहां आरटीपीसीआर की जांच अस्पताल के अलावा घर पर भी कराने की भी तैयारी है। इस संबंध में परिषद के मुख्य अधिशासी अधिकारी विकास कुमार ने बताया कि इसके लिए लोहिया संस्थान को पत्र लिखा गया है। उनकी मंजूरी मिलने पर सैंपल कलेक्शन भी किया जा सकेगा। उन्होने बताया कि इस अस्पताल की क्षमता 100 बेड तक करने का प्रयास किया जा रहा है।

उधर छावनी परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष प्रमोद शर्मा ने बताया कि इस कोविड केयर अस्पताल में भर्ती के लिए मोबाइल नम्बर जारी किए गए हैं। उन्होने बताया कि कोरोना संक्रमित रोगियों को 7311177795 और 7311177796 पर सम्पर्क करना होगा। इस नम्बर पर ही जांचों और दवा की होम डिलीवरी के लिए संपर्क किया जा सकेगा। यदि किसी मरीज का ऑक्सीजन लेवल 94 से कम हुआ तो टेलीमेडिसिन के जरिये 9125053566 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

दया शंकर चौधरी
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

औरैया में 152 ने जीती कोरोना जंग, दो की मौत

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें औरैया। जिले में शनि को दो और संक्रमितों ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *