सराय एक्ट के तहत पंजीकृत नहीं हैं मुरलीधर आहूजा की रॉयल कैफ़े के प्रतिष्ठान

लखनऊ।यूपी की राजधानी लखनऊ में नामी रॉयल कैफ़े ब्रांड नेम के साथ होटल, बेंकुइट हाल और रेस्टोरेंट की चेन चलाने वाले मुरलीधर आहूजा के प्रतिष्ठान सराय एक्ट के तहत पंजीकृत नहीं पाए गए है. बेहद चौंकाने वाला यह खुलासा राजधानी लखनऊ की तेजतर्रार समाजसेविका और नामचीन आरटीआई एक्टिविस्ट उर्वशी शर्मा द्वारा लखनऊ के जिलाधिकारी कार्यालय में डाली गई 5 आरटीआई अर्जियों पर लखनऊ के अपर जिलाधिकारी नगर पूर्वी के. पी. सिंह द्वारा उर्वशी शर्मा को भेजे गए 5 पत्रों से हुआ है.

दरअसल एक्टिविस्ट उर्वशी ने जिलाधिकारी कार्यालय में 5 आरटीआई अर्जियां देकर मुरलीधर आहूजा के 9/7 प्रेमनगर, हजरतगंज में शाहनज़फ रोड पर सहारागंज माल के सामने स्थित बेंकुइट हाल, रॉयल कलर्स लाउन्ज और रॉयल कैफ़े के साथ साथ साहू सिनेमा के सामने महात्मा गाँधी मार्ग पर चल रहे रॉयल कैफ़े और गोमतीनगर के विराम खंड प्रथम में पत्रकारपुरम चौराहे के पास स्थित प्लाट संख्या 1/50 पर चल रहे रॉयल कैफ़े नाम के प्रतिष्ठानों का सराय एक्ट में पंजीकरण कराये जाने के सम्बन्ध में जानकारी चाही थी जिसके उत्तर में लखनऊ के अपर जिलाधिकारी नगर पूर्वी के. पी. सिंह ने उर्वशी 5 पत्र भेजकर बताया है कि मुरलीधर आहूजा के इन प्रतिष्ठानों में से कोई भी सराय एक्ट के तहत पंजीकृत  नहीं पाया गया है.

उर्वशी कहती हैं कि इससे पहले उन्होंने रॉयल कैफ़े ब्रांड नेम के साथ होटल, बेंकुइट हाल और रेस्टोरेंट की चेन चलाने वाले मुरलीधर आहूजा के प्रतिष्ठानों की जांच कराने के लिए खाद्ध्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग को शिकायतें भेजी थीं जिन पर हुई जांचों में कमियां पाते हुए खाद्ध्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग ने इन सभी प्रतिष्ठानों को नोटिस भी जारी किये थे लकिन नोटिस के बाद भी कमियां दूर नहीं की गईं हैं और इस प्रकार रॉयल कैफ़े चेन के प्रतिष्ठानों द्वारा आम जनमानस के जीवन और स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है.

बताते चलें कि उर्वशी की शिकायतों की जांचों में लखनऊ के नगर निगम  और पुलिस महकमे ने भी हजरतगंज में साहू सिनेमा के सामने स्थित रॉयल कैफ़े के मालिकों द्वारा अतिक्रमण और अवैध कब्जे करके व्यापार करने की बात पाई थी और तदसमय अतिक्रमण हटवा दिया था किन्तु रॉयल कैफ़े का प्रबंधन सुधरने का नाम ही नहीं ले रहा है और बार-बार फुटपाथ पर अतिक्रमण और अवैध कब्जे करके चाट-पकौड़ी-आइसक्रीम का व्यापार कर रहा है.

बकौल उर्वशी मुरलीधर आहूजा एक तरफ स्वयं को समाजसेवी और व्यापारी नेता कहते हुए अक्सर कई प्रतिष्ठित सामाजिक तथा पत्रकार संगठनों के कार्यक्रमों में प्रमुखता से शिरकत करते हुए आम जनों के हितों की बात करते नज़र आते हैं किन्तु दूसरी तरफ उनके द्वारा नियम कानूनों को धता-बता कर आम जनों के जीवन और स्वास्थ्य से खिलवाड़ करके व्यापार किया जा रहा है जो परस्पर विरोधाभासी है.

चारबाग में में बने होटल विराट व एसएसजे इंटरनेशनल में 19 जून 2018 को हुए भीषण अग्निकांड में सात लोगों की जान चले जाने की घटना के बाद इन होटलों पर बैठी जांचों का जिक्र करते हुए उर्वशी ने कहा है कि उनको मुरलीधर आहूजा से यह अपेक्षा है कि वे रॉयल कैफ़े ब्रांड नेम के साथ चल रहे होटल, बेंकुइट हाल और रेस्टोरेंट की चेन के सभी प्रतिष्ठानों का सञ्चालन नियम-कानून का पालन करते हुए सरकारी विभागों से वांक्षित सभी अनापत्तियां प्राप्त करते हुए करेंगे ताकि उनके प्रतिष्ठानों में आने वाले आम जनों के जीवन और स्वास्थ्य से खिलवाड़ न होने पाए.

About Samar Saleel

Check Also

डॉ. आंबेडकर के विचारों पर वर्तमान सरकार का अमल

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें डॉ. भीमराव रामजी आंबेडकर की प्रतिष्ठा में सर्वाधिक ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *