Breaking News

लखीमपुर काण्ड: क्राइम ब्रांच के सामने नहीं हाजिर हुआ मुख्य आरोपी आशीष

      अजय कुमार

लखीमपुर में आठ लोगों की हत्या के लिए जिम्मेदार मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा आज शुक्रवार को क्राइम ब्रांच के समक्ष पेश नहीं हुआ है। इसके बाद से चर्चा इस बात की शुरू हो गई है कि आशीष कहीं देश छोड़कर भाग तो नहीं गया है। हालांकि आशीष के परिवार वाले आशीष के भाग जाने की खबर का खंडन करते हुए कह रहा है कि आशीष जल्द ही जांच टीम के सामने हाजिर होगा। गौरतबल हो, लखीमपुर खीरी कांड की जांच कर रही  क्राइम ब्रांच ने कल गरूवार को आशीष के घर नोटिस लगाकर उसे आज सुबह 10 बजे जांच टीम के सामने  हाजिर होने को कहा था।

बता दें कि पुलिस ने अपनी एफआईआर में आशीष मिश्रा को भी अभियुक्त बनाया था। लखीमपुर के तिकुनिया में जहां 4 किसानों की मौत हुई थी, उस घटना में आशीष मुख्य आरोपी है। आशीष मिश्रा गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी का बेटा है। जांच टीमें आशीष मिश्रा की तलाश कर रही हैं तो उसके घर के बाहर भी सन्नाटा पसरा हुआ है। वह घर पर मौजूद नहीं है।
बता दें यूपी पुलिस की तरफ से कल आशीष मिश्रा को लेकर एक बयान जारी किया गया था,जिसमें कहा था कि पुलिस आशीष मिश्रा की तलाश कर रही है, उनसे पूछताछ होनी है। यह बयान हैरान करने वाला इसलिए था क्योंकि इससे पहले तक आशीष मिश्रा लगातार मीडिया के सामने आकर इंटरव्यू दे रहा था, लेकिन अब अचानक वह गायब हो गया।
बहरहाल, अभी तक दो आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं। पुलिस ने गुरुवार को आशीष पांडेय और लवकुश को गिरफ्तार किया गया था। दोनों घटना में शामिल थे और घायल भी हुए थे। पुलिस पर दबाव बन रहा था कि घटना के इतने दिन बीत जाने के बावजूद अबतक किसी से ना तो पूछताछ हुई है और ना ही कोई गिरफ्तारी. सुप्रीम कोर्ट ने भी गुरुवार को जब इस मामले की सुनवाई की तो उन्होंने यूपी सरकार से इस बीच की जानकारी मांगी कि केस की मौजूदा स्टेटस रिपोर्ट क्या है। इसमें कितने लोगों की गिरफ्तारी हुई है। बता दें कि लखीमपुर में प्रदर्शन कर रहे किसानों को गाड़ी से कुचलने का मामला सामने आया था। इसके बाद किसान नेता राकेश टिकैत ने आशीष पर किसानों की हत्या करने का आरोप लगाया था। इस घटना में चार किसानों की मौत हो गई थी. इसके अलावा चार अन्य लोग भी मारे गए थे। इसमें दो बीजेपी कार्यकर्ता, एक ड्राइवर और एक पत्रकार शामिल थे। मारे गए सभी लोगों के परिवारों को यूपी सरकार ने 45-45 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी है। उधर, जांच एजेंसियों का कहना है कि आशीष ने जांच में सहयोग नहीं दिया तो जांच एजेंसियां आशीष की गिरफ्तारी का आदेश कोर्ट से लेकर उसे पकड़ सकती है।

About Samar Saleel

Check Also

पत्रकारिता की आड में वसूली करने वालो की शिकायत के लिए पुलिस ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें फिरोजाबाद। पत्रकारिता की आढ में अवैध वसूली कर ...