Breaking News

शोध में गुणवत्ता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से कार्यशाला का आयोजन

लखनऊ विश्वविद्यालय के आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ द्वारा शोध में गुणवत्ता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से एक साप्तहिक कार्यशाला (19-24 सितम्बर, 2022) का आयोजन प्रारंभ हुआ। कार्यशाला के उद्धघाटन समारोह की अध्यक्षता प्रोफेसर राजीव मनोहर, निदेशक (आई क्यू ऐ सी) के द्वारा की गयी।

उद्घाटन समारोह में प्रोफेसर गीतांजली मिश्रा, प्रोफेसर मसूद सिद्दीकी, प्रोफेसर रोली मिश्रा, प्रोफेसर अशोक कैथल, डॉक्टर अतुल श्रीवास्तव, डॉक्टर करुणा शंकर कनौजिया एवंम डॉक्टर शाम्भवी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर नागेंद्र कुमार मौर्या ने किया। प्रोफेसर राजीव मनोहर ने कार्यशाला में आये हुए प्रतिभागियों से कहा के अच्छे शोधकर्ता को एक अच्छा समीक्षक तथा नए विचारो को स्वीकार करने वाला होने चाहिए तथा आलोचनाओं को सकारात्मक तरीके से लेना चाहिए।

उन्होंने कार्यशाला के समन्वयको डॉक्टर नागेंद्र कुमार मौर्या तथा डॉक्टर अनुपमा सिंह को सलाह दी की कार्यशाला समाप्ति के 3 या 6 माह पश्चात प्रतिभागियों से कार्यक्रम के बारे में उनकी प्रतिक्रिया लर्निंग आउटकम्स पर जरूर लें, और उनके आधार पर अगले कार्यशाला को उसी अनुसार आयोजित करें।

उद्घाटन समारोह का समापन डॉक्टर अनुपमा सिंह द्वारा धन्यवाद प्रस्ताव के बाद हुआ। कार्यक्रम के उद्घाटन समारोह पश्चात पहला व्याख्यान डॉक्टर अनिमेष रॉय, गिरी विकास अध्यन संसथान द्वारा प्रश्नावली निर्माण पर हुआ। कार्यशाला में कुल 50 प्रतिभागी राज्य के विभिन्न विश्वविद्यालयों तथा कॉलेजों से आये हुयें हैं।

About Samar Saleel

Check Also

विजय दशमी का संदेश

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें विजय दशमी का महत्व असत्य और अधर्म प्रवृत्ति ...