Breaking News

घर घर क्षय रोगी खोजने में मददगार बनें टीबी चैम्पियन- डीटीओ

• टीबी चैम्पियन की समीक्षा बैठक आयोजित

• समुदाय स्तर पर टीबी से जुड़े मिथक व भ्रांतियों को दूर करना जरूरी

कानपुर। राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम (एनटीईपी) के तहत जिला क्षय रोग इकाई पर सहयोगी संस्था वर्ल्ड विजन इंडिया के सहयोग से शुक्रवार को टीबी चैम्पियन की समीक्षा बैठक हुई। इसमें सपोर्ट हब के सभी टीबी चैंपियन ने प्रतिभाग किया।

बैठक में पिछले तीन माह में टीबी चैम्पियन द्वारा किए गए कार्यों की समीक्षा की गयी। बैठक की अध्यक्षता जिला क्षय रोग अधिकारी डा एपी मिश्रा ने की।

टीबी चैम्पियन

जिला क्षय रोग अधिकारी ने टीबी चैम्पियन को राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के तहत स्वास्थ्य विभाग की ओर से 20 फरवरी से शुरू होने वाले सक्रिय क्षय रोगी खोज अभियान (एक्टिव केस फाइंडिंग) में सहयोग करने के लिए कहा।

इसके अलावा टीबी चैम्पियन जब भी सामुदायिक बैठकें करें वह प्रचार प्रसार सामग्री का प्रयोग जरूर करें। उन्होंने वर्ल्ड विजन संस्था से जुड़े सभी टीबी चैम्पियन को बताया कि दो हफ्ते से अधिक समय से खांसी आ रही हो, लगातार वजन कम हो रहा हो और कमजोरी का अहसास हो तो टीबी की जांच करानी चाहिए।

परीक्षा देने से पहले छात्रों में सेल्फ कॉन्फिडेंस होना जरूरी, पॉजिटिव रहना बेहद जरूरी- आकांक्षा मिश्रा

पब्लिक प्राइवेट मिक्स समन्वयक सुधीर यादव ने बताया कि जनपद की समस्त टीबी इकाइयों पर संभावित टीबी मरीजों को चिन्हित करने और उनके सैंपल एकत्रित कर जांच के लिए भेजने का कार्य निरंतर किया जा रहा है।

आशा कार्यकर्ता भी बलगम सैंपल इकट्ठा करने में बड़ी ज़िम्मेदारी निभा रही हैं। इसके साथ ही सामुदायिक स्तरीय बैठक कर टीबी मरीजों के प्रति भेदभाव, मिथक व भ्रांतियों को दूर करने की ज़रुरत है।

टीबी चैम्पियन

वर्ल्ड विजन इण्डिया संस्था के जिला समिति समन्वयक राम राजीव सिंह ने पीपीटी के माध्यम से पिछले तीन माह के कार्यों का विवरण दिया कि कितने क्षय रोगियों तक चैम्पियन ने पहुँच बनाई है। कितने क्षय रोगियों के परिवार के सदस्यों को टीबी चैम्पियन द्वारा एनटीईपी की सुविधाएं दी गई और कितनों की काउंसलिंग की गई।

12वां विश्व हिंदी सम्मेलन: दुनिया भर के हिंदी प्रेमियों को एक साथ लाने का एक अंतरराष्ट्रीय मंच

ज्ञात हो कि टीबी चैम्पियन की अवधारणा वर्ल्ड विजन इंडिया की पहल है। जो क्षय रोगी ठीक हो जाते हैं और वह समुदाय में क्षय उन्मूलन को लेकर अपना सहयोग देना चाहते हैं तो उन्हें टीबी चैम्पियन बनाकर टीबी इकाई पर नामित कर दिया जाता है। जहां पर वह क्षय रोगियों का फॉलो अप करते हैं और बीमारी का सामना करने में उनकी मदद करते हैं।

टीबी चैम्पियन

बैठक में मौजूद सभी टीबी चैम्पियन ने सामुदायिक स्तर पर क्षय रोग से जुड़े मिथक और भ्रांतियों को दूर करने, सामुदायिक व्यवहार परिवर्तन और टीबी मरीजों को स्वस्थ वातावरण व जीवनयापन के बारे में विस्तार से चर्चा की। इस मौके पर एसटीएलएस महेंद्र शर्मा और टीबी चैम्पियन सहित कुल 16 लोग उपस्थित रहे।

रिपोर्ट-शिव प्रताप सिंह सेंगर

About Samar Saleel

Check Also

ईद पर अयोध्या ने दिया भाईचारे का संदेश… इकबाल अंसारी से मिलने पहुंचे रामलला के मुख्य पुजारी

अयोध्या। ईद उल फित्र के अवसर पर राम की नगरी अयोध्या ने सांप्रदायिक सद्भाव का संदेश ...