Breaking News

प्रातः काल आंखें खुलने पर खुद से पूछें ये 5 जादुई सवाल…

जैसे पृथ्वी के भीतर गुरुत्वाकर्षण की अद्भुत शक्ति होती है, अच्छा उसी प्रकार हमारे भीतर भी आकर्षण की महाशक्ति उपस्थित होती है आकर्षण की इस शक्ति का इस्तेमाल करके हम अपने ज़िंदगी को  ख़ुशहाल और सकारात्मक बना सकते हैं  जिसकी आरंभ हमें हर रोज़ प्रातः काल करनी चाहिए क्या हैं वे सकारात्मक बातें  सवाल, आइए जानते हैं

करें प्रातः काल की शुभ शुरुआत

–   प्रातः काल आंखें खुलने पर एकदम झटके से न उठें

–   भले ही आप अलार्म की आवाज़ के साथ उठते हैं, फिर भी दो मिनट तक बिस्तर पर यूं ही लेटे रहें

–   उठते ही कामों की लिस्ट याद करने की बजाय सबसे पहले ईश्‍वर का नाम लेकर उन्हें धन्यवाद दें

–   अगले एक मिनट में ख़ुद से कुछ सवाल पूछें, ताकि आपका पूरा दिन ऊर्जा  जोश से भरपूर हो

–   प्रयास करें कि मुस्कुराएं  अपनी मुस्कुराहट को कुछ देर तक बनाए रखें

–  अगर शरीर में कहीं तकलीफ़ है, तो भी मुस्कुराएं  ख़ुद से कहें कि आप जल्दी ही दर्दमुक्त हो जाएंगे

पूछें ये 5 जादुई सवाल

हर प्रातः काल हमारा नया जन्म होता है  हर दिन नयी उम्मीदें, आशाएं  मौका लेकर आता है कभी-कभी ईश्‍वर हमें अपने चमत्कारों से आश्‍चर्यचकित कर देते हैं जो आपने सोचा भी नहीं होता, वो भी आपको मिल जाता है ऐसे में यह जादुई एहसास वाकई बहुत ख़ास होता है तो आइए आपको भी बता दें कि कौन-से हैं वो पांच जादुई सवाल, जो आपको हर दिन पूछने चाहिए

  1. मैं कैसा महसूस कर रहा/रही हूं?

–   आपके दिन की आरंभ स्वास्थ्य से होनी चाहिए, क्योंकि स्वास्थ्य से बढ़कर कुछ भी नहीं

– सबसे पहले ख़ुद से पूछें कि मैं कैसा महसूस कर रहा हूं? क्या मेरा शारीरिक, मानसिक  भावनात्मक स्वास्थ्य दुरुस्त है? मेरे शरीर में कहीं कोई तकलीफ़ तो नहीं? कहीं तनाव का प्रभाव मेरी मेंटल हेल्थ पर तो नहीं पड़ रहा?

–   इस बारे में सवाल करने पर आप इस तरफ़ ध्यान देंगे, क्योंकि आज भी बहुत-से लोग इमोशनल  मेंटल हेल्थ को उतनी तवज्जो नहीं देते

–   अगर आपको कहीं भी ऐसा लग रहा है कि आप कमतर पड़ रहे हैं, तो थोड़ी  प्रयास करें  ख़ुद को ख़ुश और स्वस्थ रखें

  1. आज का दिन कैसा होगा?

–   दूसरा सवाल ख़ुद से करें कि आज का दिन कैसा होगा यक़ीनन हर दिन अपने साथ बहुत कुछ नया लेकर आता है

–   आज का दिन मेरे लिए ढेरों ख़ुशियां लेकर आ रहा है मैं ख़ुश हूं  दिनभर यह ख़ुशी, जोश  उत्साह बना रहेगा

–   आज का दिन भी अपने साथ बहुत कुछ अच्छा लेकर आएगा आज मैं अपने कुछ अधूरे वादे सारे करने की प्रयास करूंगा

  1. आज कौन-सी ख़ुशख़बरी मिलेगी?

–   दिनभर ख़ुद को उत्साहित रखने के लिए अपने दिन की आरंभ इसी सवाल से करें यक़ीन मानिए इस सवाल के साथ ही आपके चेहरे पर एक बड़ी-सी मुस्कान खिल जाएगी

Loading...

–   जो भी आप पाना चाहते हैं, उसकी एक लिस्ट अपनी आंखों के सामने लाएं  सोचें कि इसमें से ही एक ख़ुशख़बरी आज मुझे मिलेगी

–   आपकी वाइब्स उस ख़ुशख़बरी को लाने के लिए प्रातः काल से ही कार्य पर लग जाती हैं  जल्द ही आपको वो ख़ुशी नसीब होती है

  1. क्या झुंझलाने से सब अच्छा हो जाएगा?

–   बहुत-से लोग बीते हुए कल की समस्याओं, ईर्ष्या  नफ़रत जैसे निगेटिव विचारों को ढोकर अगले दिन भी ले आते हैं  नए दिन की आरंभ भी उसी नकारात्मकता से करते हैं

–   अब बस दो मिनट के लिए शांत मन से सोचें कि झुंझलाने से क्या समस्या हल हो जाएगी? यक़ीनन जवाब ना में ही होगा तो फिर ‘रात गई बात गई’ वाला फॉर्मूला अपनाएं  नए दिन की एक बेहतरीन नयी आरंभ करें

  1. किस बात से मुझे सबसे ज़्यादा ख़ुशी मिलती है?

–  मोटिवेशनल स्पीकर्स की मानें, तो 100 में से 95 लोग इस पहलू की ओर ध्यान ही नहीं देते माना कि आप अपनों से बहुत प्यार करते हैं  उनकी ख़ुशी के लिए ही सब कुछ करते हैं, पर अपनी ख़ुशी का भी ख़्याल रखें, अन्यथा धीरे-धीरे आपके भीतर हताशा-निराशा घर करने लगेगी

–   हर प्रातः काल ख़ुद से अपनी ख़ुशियों के बारे में सवाल करें  उन्हें पूरा करने की ईमानदारी से प्रयास करें

–   कुछ लोगों को लगता है कि ‘चल रहा है ना’ चलने दो, लेकिन ज़िंदगी ख़ुशी-ख़ुशी जीने के लिए है, चलाने के लिए नहीं, इसलिए अपनी ख़ुशियों को ख़ास तवज्जो दें

–   छोटी-छोटी चीज़ें, जैसे- पानीपूरी खाना, आईस्क्रीम खाना, दोस्त को कॉल करना, किसी से दिल खोलकर बातें करना, झूला झूलना, पेड़ों को छूकर उनसे बातें करना आदि करके भी आप ख़ुश हो सकते हैं

थैंक्यू कहें, ख़ुश रहें

–   रोज़ाना सोकर उठने पर सबसे पहले ईश्‍वर को धन्यवाद दें कि आप ज़िंदा हैं, क्योंकि यही एक वस्तु है, जिसे लोग सबसे ज़्यादा ग्रांटेड लेते हैं रोज़मर्रा की ज़िंदगी में हम अक्सर ऐसे उदाहरण देखते हैं, जहां आकस्मित ही आपके जान-पहचान के लोग यूं ही संसार छोड़कर चले जाते हैं, फिर भी हम अपने ज़िंदगी को ग्रांटेड लेते हैं

–   शुक्रिया अदा करें कि आप स्वस्थ हैं, क्योंकि जब आप अस्वस्थ होते हैं, तो जल्द से जल्द अच्छा होना चाहते हैं, पर अच्छा होते ही अपने शरीर को अनहेल्दी फूड  माइंड को नकारात्मक बातों  स्ट्रेस से भर देते हैं  फिर बीमार पड़ जाते हैं, इसलिए ख़ुश हो जाएं कि आप स्वस्थ हैं आपकी सकारात्मक सोच आपको सकारात्मक ऊर्जा देती हैं, जिससे आप अच्छा महसूस करते हैं

–   धन्यवाद दें कि आपके पास जॉब या व्यवसाय है, जिसके कारण आप स्वाभिमान के साथ अपना  अपने परिवार का भरण-पोषण कर पा रहे हैं, अन्यथा बाहर बहुत-से लोग बेरोज़गार घूम रहे हैं, जिसके कारण वो डिप्रेशन का शिकार भी हो रहे हैं

–   ईश्‍वर को धन्यवाद दें कि आपका परिवार है, दोस्त-रिश्तेदार हैं आपके चाहनेवाले आपसे प्यार करते हैं, आपकी परवाह करते हैं, आपको स्पेशल फील कराने के लिए कुछ न कुछ करते रहते हैं, जबकि बहुत-से लोग अकेले हैं  अकेलापन उनकी ज़िंदगी को खोखला बना रहा है

–   कठिन समय हमें बहुत कुछ सिखाता है जब हम सबसे ज़्यादा मुसीबत में होते हैं, तब अपनी बहुत-सी पुरानी ग़लतियां याद आती हैं बुरे दशा हमें लड़ने की ताक़त देते हैं हमें सब्र हौसला से कार्य लेना सिखाते हैं ईश्‍वर को धन्यवाद दें कि उन्होंने आपको चैंलेंजेस दिए, अन्यथा आप अपनी काबीलियत कभी पहचान ही नहीं पाते

5 पावरफुल पैकेजेस 

हम आपकी भागदौड़ को अच्छी तरह समझते हैं, इसलिए अगर आपको लगता है कि आप रोज़ाना ये सवाल नहीं पूछ सकते, तो कोई बात नहीं आप हफ़्ते में तीन दिन सवाल के लिए रखें  तीन दिन पावरफुल पैकेजेस के लिए प्रातः काल सोकर उठने पर ये कहें-
1. मैं बेस्ट हूं
2. मैं यह कर सकता हूं
3. ईश्‍वर मेरे साथ हैं
4. मैं विजेता हूं
5. आज का दिन मेरा है

Loading...

About News Room lko

Check Also

क्रिसमस पर बनाए ओट्स एंड डेट्स पाई, देखे विधि

क्रिसमस का त्योहार आने वाला है. इस त्योहार पर तरह-तरह के केक, कुकीज, पाई जैसी ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *