Breaking News

औरैया एनटीपीसी में 20 मेगावॉट के फ्लोटिंग सोलर का परियोजना का हुआ उद्घाटन

औरैया। प्रान्त-प्रान्त में, नगर-नगर में, गांव-गांव में, डगर-डगर में, भारत माता के घर-घर में नित अभिनव प्रकाश पहुंचाएं। एनटीपीसी गीत की इन पंक्तियों को चरितार्थ करने की दिशा में एनटीपीसी लिमिटेड तेजी से कदम बढ़ा रही है। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में एनटीपीसी तीव्रता से प्रगति की सीढ़ियाँ चढ़ती जा रहे है। ताकि देश को ऊर्जा के क्षेत्र में अग्रणी बना सके। देश का कण-कण रोशन कर अंधियारा दूर भगाएंगे, प्रकाश-पुंज की मणियों से देश अपना चमकाएंगे। इसी उद्देश्य की पूर्ति हेतु एनटीपीसी द्वारा सोलर प्लांट के माध्यम से विद्युत उत्पादन का कार्य जारी है।

उत्तर प्रदेश में औरैया जिले की एनटीपीसी परियोजना भी इसमें पीछे नहीं रही है। गैस प्लांट से विद्युत उत्पादन के साथ-साथ परियोजना 40 मेगावॉट सोलर प्लांट के माध्यम से भी विद्युत उत्पादन कर रही है। वर्ष 2020 में दो चरणों में ग्राउंड सोलर की कमिशनिंग के पश्चात परियोजना द्वारा 20 मेगावॉट तक की विद्युत यूपी ग्रिड को सुचारू रूप से निर्यात की जा रही है। इसके साथ ही 20 मेगावॉट फ्लोटिंग सोलर प्लांट, जो कि प्लांट परिसर स्थित रिजरवायर पर बनाया गया है।

जो अब तक केवल आकर्षण का केंद्र था अब लोगों की जिंदगियां भी रोशन करेगा। अंधियारे का नाम-निशां मिटा देने को आतुर नवकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में एक और कदम बढ़ाते हुए फ्लोटिंग सोलर की कमिशनिंग निर्वीघ्न पूर्ण हुई। जो परियोजना के लिए गौरव का क्षण रहा। यूपी नेडा बिडिंग के माध्यम से 20 मेगावाट बिजली यूपी पीसीएल को प्रदान की जाएगी। इसमें यूपी नेडा के अधिकारियों का फ्लोटिंग सोलर कमिशनिंग में बहुमूल्य योगदान एवं सहयोग रहा है।

एनटीपीसी के क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक उत्तरी क्षेत्र मुख्यालय लखनऊ देवाशीष सेन ने औरैया परियोजना के गैस प्लांट के भ्रमण के साथ-साथ जलाशय पर बने 20 मेगावॉट फ्लोटिंग सोलर का निरीक्षण किया। साथ ही 20 मेगावॉट के फ्लोटिंग सोलर का परियोजना का स्विच ऑन कर औपचारिक शुभारंभ किया। साथ ही उद्घाटन पट्टिका का अनावरण किया।

इस मौके पर क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक उत्तरी क्षेत्र मुख्यालय देवाशीष सेन ने कहा कि यह सिर्फ औरैया परियोजना के लिए ही नहीं वरन पूरे एनटीपीसी परिवार के लिए गर्व की बात है कि उत्तर प्रदेश राज्य में 20 मेगावॉट का यह पहला फ्लोटिंग सोलर प्लांट है।

उन्होंने सौर ऊर्जा संयंत्र की स्थापना के लिए एनटीपीसी औरैया की सराहना की और औरैया परियोजना को आगे विस्तार के लिए अतिरिक्त भूमि/जल निकाय का उपयोग करने की सलाह दी। उन्होंने 20 मेगावाट फ्लोटिंग सौर संयंत्र की सफल कमीशनिंग के लिए औरैया परियोजना की कड़ी मेहनत की सराहना की। उन्होंने कहा कि चाहे चुनौतियां कितनी भी हों, हम देश में प्रकाश-पुंज के प्रसार का कार्य जारी रखेंगे।

इस अवसर पर परियोजना के महाप्रबंधक जसवीर सिंह अहलावत ने कहा कि अपने हरित ऊर्जा पोर्टफोलियो को बढ़ाने के हिस्से के रूप में एनटीपीसी औरैया में 40 मेगावाट की ग्राउंड एवं फ्लोटिंग सौर परियोजना का क्रियान्वयन सफलतापूर्वक किया जा चुका है। जो हम सबके लिए गर्व एवं गौरव का विषय है। बताया कि ग्राउंड तथा फ्लोटिंग सोलर प्रोजेक्ट का काम 2019 में शुरू हुआ था। जिसमें से 20 मेगावाट ग्राउंड सोलर से 2020 में ही विद्युत निर्यात प्रारम्भ कर दिया गया। जबकि अब दूसरे चरण के रूप में 20 मेगावाट का फ्लोटिंग सोलर की भी कमिशनिंग सफलतापूर्वक हो चुकी है।

हमारी परियोजना में गैस प्लांट के साथ-साथ पर्यावरण प्रदूषण रहित 40 मेगावाट के ग्रीन इनर्जी के माध्यम से विद्युत उत्पादन का लक्ष्य पूर्ण होने जा रहा है, जो हम सबके लिए खुशी का क्षण है। इस विशेष उपलब्धि के लिए टीम औरैया को हार्दिक बधाई देता हूँ। कहा कि हम यहीं नहीं रुकेंगे, वरन देश भारत को रोशन करने तथा एनटीपीसी लिमिटेड की प्रगति में योगदान स्वरूप नई-नई योजनाओं को कार्यान्वित करते रहेंगे।

इसके साथ ही क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक देवाशीष सेन ने उत्तरा महिला मंडल की अध्यक्षा श्रीमती करबी सेन एवं विभागाध्यक्षों द्वारा एनटीपीसी औरैया के अतिथिगृह के समीप वृक्षारोपण किया गया। इससे पूर्व प्रशासनिक भवन के प्रेक्षागृह में क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक ने अपने सम्बोधन के दौरान टीम औरैया को 20 मेगावॉट फ्लोटिंग सोलर की सफलतापूर्वक कमिशनिंग की हार्दिक बधाई दी।

रिपोर्ट-शिव प्रताप सिंह सेंगर

About Samar Saleel

Check Also

लखनऊ विश्वविद्यालय को फार्मेसी कौंसिल ऑफ़ इंडिया ने प्रदान की बीफार्म की 100 और डीफार्म की 60 सीट के लिए मान्यता

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। इंस्टिट्यूट ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेज, लखनऊ विश्वविद्यालय को ...