भाजपा-कांग्रेस एक जैसी,दलित मूवमेंट को कमजोर करना इनकी साजिश का हिस्साः मायावती

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमों मायावती आज लखनऊ में पार्टी के संस्थापक मान्यवर कांशीराम की पुण्यतिथि पर मीडिया से रूबरू होते हुए काफी आक्रमक नजर आईं। मोदी-योगी से लेकर राहुल-प्रियंका और बाबा साहब के नाम पर दलितों की राजनीति करने वाले  भीम आर्मी के प्रमुख चन्द्रशेखर आजाद रावण सबको माया ने खूब खरी-खोटी सुनाई। उन्होंने दलितों को अपने पाले में बनाए रखने के लिए कांग्रेस-भाजपा की सरकारों के समय दलितों के साथ नाइंसाफी का पूरा हिसाब-किताब मीडिया को समझाया और यह भी कहा बसपा किसी की पिछल्लू पार्टी बनकर नहीं रह सकती है। दलितों की अनदेखी के मामलों में माया ने कांग्रेस और भाजपा दोनों को एक जैसी पार्टी करार दिया। बात चाहें  हाथरस कांड की हो या फिर विकास कार्यो में दलित समाज की उपेक्षा की अथवा  दलित बहू-बेटियों की इज्जत-आबरू से खिलवाड़ की माया का ‘पारा’ सांतवें आसमान पर दिखा। हाथरस ही नहीं माया ने उत्तर प्रदेश में अन्य मामलों मेें दलितों पर बढ़ते अत्याचार का सारा दोष भाजपा सरकार पर मढ़ा है। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक कांशीराम की पुण्यतिथि (नौ अक्टूबर) पर मीडिया को संबोधित किया।

मायावती आरोप लगाया विकास के उत्थान के मामले में दलित समाज की जमकर उपेक्षा की जाती है। सभी पार्टियां राजनीतिक फायदे और स्वार्थ की पूर्ति के लिए इन वर्गों की बहन-बेटियों पर कोई भी जुल्म-ज्यादती होने पर राजनीतिक ड्रामा भी खूब करती हैं। इसके हाथरस जैसे कई उदाहरण हमारे सामने हैं। उन्होंने कहा कि सच्चाई यह है कि कांग्रेस हो या भाजपा, दोनों के राज में दलित समाज का कोई उत्थान या विकास नहीं हुआ। इसके उलट उनके साथ बड़े पैमाने पर जुल्म और ज्यादती हुई है।

माया ने जोर देकर कहा  सभी विरोधी पार्टियां अंदर-अंदर आपस में एक होकर हमारे वर्ग के लोगों का शोषण करती है। ये हम लोगों को गुलाम बनाए रखना चाहती हैं। इतना ही नहीं, उन्होंने अपने विरोधियों पर पार्टी के मूवमेंट को कमजोर करने की साजिश का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि विरोधियों के इशारे पर बाबा साहेब के नाम पर बने अनेकों संगठन और पार्टियां असल में बसपा के मूवमेंट को कमजोर करने के लिए हैं। यह संगठन लोगों को गुमराह कर रहे हैं। माया की इशारा भीम आर्मी की तरफ था।

कई मौकों पर मोदी-योगी सरकार के फैसले से सहमत नजर आने वाली बसपा सुप्रीमो मायावती ने आज उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ तथा केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर भी जमकर हमला बोला। मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश के साथ देश में जहां पर भी भाजपा या फिर कांग्रेस की सरकार है, वहां पर दलितों तथा पिछड़ों पर अत्याचार हो रहा है। उत्तर प्रदेश का हाथरस इसका ताजा उदाहरण है। कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी  देश तथा कई प्रदेशों में बारी-बारी से अपनी सरकार बनाकर दलितों के नाम पर अपना मिशन साधने का काम करती हैं।

Loading...

बहुजन समाज पार्टी देश में किसी की भी पिछलग्गू नहीं है। हमारी पार्टी का अपना एक मिशन है और हम मिशन के तहत काम करते हैं। मायावती ने कहा कि ऐसे संगठनों के पास धन बसपा की तरह अपने लोगों से नहीं आता है। इनके कार्यकर्ता लोगों को गुमराह करते हैं कि बसपा तो आए दिन चंदा ही इकट्ठा करती रहती है। उन्होंने कहा कि बसपा कार्यकर्ताओं और बहुजन समाज को इन लोगों से सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि ये लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। इनका मकसद बसपा के मूवमेंट को कमजोर करना है।

पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा देश तथा प्रदेश में बाबा साहब डॉ. भीमराम आम्बेडकर के मिशन के नाम पर भाजपा तथा कांग्रेस के इशारे पर बने अनेकों संगठन और पार्टियां बसपा के मूवमेंट को कमजोर करने के लिए हैं। इनके पास बसपा की तरह अपने लोगों से धन नहीं आता है। यह हमारे लोगों को गुमराह करते रहते हैं कि बसपा तो आए दिन चंदा ही इकट्ठा करती रहती है। यह लोग तो देश विरोधी ताकतों से धन एकत्र करते हैं। उनका इशारा भीम आर्मी की तरफ था जिस पर आरोप लग रहा है कि उसने प्रतिबंघित आतंकवादी संगठन पीएफआई से हाथरस में दंगा भड़काने के लिए पैसे लिए थे।

संजय सक्सेना, स्वतंत्र पत्रकार
रिपोर्ट-संजय सक्सेना
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

विधायक के चित्र में कालिख पोतने से उंचाहार में गरमाई राजनीति

ऊँचाहार/रायबरेली। । क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर लगी क्षेत्रीय विधायक व सपा पदाधिकारियों की होर्डिंग को ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *