Breaking News

मुख्य रेल संरक्षा आयुक्त ने ऐशबाग-मानकनगर के बीच 25 हजार वोल्ट एसी क्षमता की नई बाई पास लाइन का निरीक्षण किया

लखनऊ। पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल द्वारा यात्री सुविधाओं के उन्नयन एवं परिचालन सुगमता हेतु मूलभूत ढ़ांचे में विस्तार के क्रम में आज ऐशबाग (एक्स) मानकनगर (एक्स) खण्ड के मध्य (कुल लंबाई लगभग 3.5 किलोमीटर) स्वतंत्र नई बाई पास लाइन का 25,000 वोल्ट एसी क्षमता के नई विद्युतकर्षण लाइन युक्त रेल खण्ड का संरक्षा परीक्षण मुख्य रेल संरक्षा आयुक्त जनक कुमार गर्ग द्वारा पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (निर्माण) अभय कुमार गुप्ता, मुख्य विद्युत इंजीनियर निर्माण ओपी सिंह तथा पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मंडल के मंडल रेल प्रबन्धक आदित्य कुमार एवं उत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल के मण्डल रेल प्रबंधक एसएम शर्मा समेत पूर्वोत्तर रेलवे, उत्तर रेलवे तथा निर्माण संगठन के वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में निरीक्षण किया गया।

मुख्य रेल संरक्षा आयुक्त ने ऐशबाग-मानकनगर के बीच 25 हजार वोल्ट एसी क्षमता की नई बाई पास लाइन का निरीक्षण किया

निरीक्षण के दौरान मुख्य रेल संरक्षा आयुक्त ने सर्वप्रथम मानक नगर रेलवे स्टेशन (उत्तर रेलवे) पर स्वतंत्र नई बाई पास लाइन के विद्युतीकृत रेल खण्ड के मानक के अनुरूप सेफ्टी अभिलेखों, यार्ड प्लान, स्टेशन वर्किंग रूल, प्लेटफार्म क्लियरेंस, पॉइंट क्रासिंग, सिगनलिंग, बर्थिंग ट्रैक बैलास्ट, फाउलिंग मार्क आदि की संरक्षा परखी।

इसके पश्चात मुख्य रेल संरक्षा आयुक्त उपस्थित अधिकारियों के साथ प्रातः 9ः35 बजे मोटर ट्राली से ऐशबाग (एक्स)-मानकनगर (एक्स) खण्ड के मध्य विद्युतीकृत के निमित्त बनी नई लाइन के संरक्षा निरीक्षण हेतु रवाना हुए। इस दौरान उन्होंने स्टेशनों के मध्य कर्व, रेल ओवर रेल ब्रिज, पॉइंट्स एवं क्रॉसिंग्स, रेलवे लाइन फिटिंग्स, सिग्नल का संरक्षा निरीक्षण किया।

मुख्य रेल संरक्षा आयुक्त ने ऐशबाग-मानकनगर के बीच 25 हजार वोल्ट एसी क्षमता की नई बाई पास लाइन का निरीक्षण किया

मुख्य रेल संरक्षा आयुक्त ने ऐशबाग जंक्शन रेलवे स्टेशन पहुॅचने पर पैनल रूम, यार्ड प्लान, स्टेशन वर्किंग रूल, प्लेटफार्म क्लियरेंस, सिगनलिंग, बर्थिंग ट्रैक बैलास्ट तथा ओवर हेड ट्रैक्शन की ऊंचाई को देखा तथा स्टेशन मास्टर से संरक्षा संबंधी प्रश्न पूछकर संरक्षा कार्य कुशलता परखी।
निरीक्षण के उपरान्त स्वतंत्र नई बाई पास लाइन पर निरीक्षण स्पेशल ट्रेन से सफलतापूर्वक स्पीड ट्रायल किया गया।

इस स्वतंत्र नई बाई पास लाइन के शुरु होने के पश्चात अब लखनऊ जंक्शन-मानकनगर (वाया ब्लॉक हट ‘ए’) तथा ऐशबाग जंक्शन-मानकनगर (वाया ब्लॉक हट ‘ए’) खण्ड पर स्वतंत्र रुप से दो अलग-अलग रेल लाइनों पर ट्रेन परिचालन संभव हो जाएगा। इस कार्य के फलस्वरुप उपरोक्त खण्डों की लाइन क्षमता में उल्लेखनीय वृद्धि होगी तथा लखनऊ जंक्शन एवं ऐशबाग जंक्शन होते हुए आने-जाने वाली ट्रेनों का संचलन पहले की तुलना में अब इस खंड पर और अधिक सुगम हो जाएगा तथा समय पालन में वृद्धि होगी। आम जनता से अपील की गई है कि आज से इस रेलखण्ड को विद्युतीकृत समझें और नए विद्युतीकृत रेलवे ट्रैक तथा ओवर हेड लाइन से सुरक्षित दूरी बनाये रखें।

मुख्य रेल संरक्षा आयुक्त ने ऐशबाग-मानकनगर के बीच 25 हजार वोल्ट एसी क्षमता की नई बाई पास लाइन का निरीक्षण किया

इस अवसर पर उप मुख्य संरक्षा अधिकारी (इंजी-गोरखपुर), लखनऊ मण्डल के वरिष्ठ मण्डल परिचालन प्रबंधक, वरिष्ठ मण्डल संरक्षा अधिकारी, वरिष्ठ मंडल इंजीनियर (समन्वय), वरिष्ठ मण्डल इंजीनियर-।।, मण्डल सिगनल एवं दूरसंचार इंजीनियर, वरिष्ठ मण्डल विद्युत इंजीनियर (टीआरडी), उप मुख्य सिग्नल एवं दूरसंचार इंजीनियर (निर्माण), उप मुख्य विद्युत इंजीनियर (निर्माण) एवं अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

रिपोर्ट-दया शंकर चौधरी

About Samar Saleel

Check Also

बांग्लादेश हिंसा: भारत ने जारी की एडवाइजरी, यात्रा से बचने की सलाह

नई दिल्ली। बांग्लादेश में सरकारी नौकरियों में आरक्षण के खिलाफ विरोध प्रदर्शन ने अब हिंसक ...