Breaking News

Dharm Sabha : अयोध्या में अब जमीन बंटवारा बर्दाश्त नहीं

अयोध्या। विश्व हिंदू परिषद ने आज अयोध्या में Dharm Sabha धर्मसभा में अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण को लेकर हुंकार भरी है। विहिप के उपाध्यक्ष चंपत राय ने दो-टूक कहा है कि अयोध्या में अब जमीन का बंटवारा बर्दाश्त नहीं है।

धर्मसभा में तुलसी पीठाधीश्वर

धर्मसभा Dharm Sabha में तुलसी पीठाधीश्वर चित्रकूट रामभद्राचार्य ने बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा धर्म सभा में आए संत कम पढ़े लिखे हैं, इनको कौन समझाए। उन्होंने कहा कि भाजपा पर विश्वास करें। भाजपा ही राम मंदिर बनाएगी। उन्होंने कहा कि सब अति विश्वास में धोखे में रहे है। हमको पता है कि चुनाव बाद भाजपा राम मंदिर पर पहल करेगी। अयोध्या में राम मंदिर को लेकर स्वामी रामभद्राचार्य ने बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय मंत्री ने भरोसा दिलाया है कि 11 दिसंबर के बाद सरकार राम मंदिर बनाने को लेकर बड़ा ऐलान करेगी।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मध्य प्रदेश में राम मंदिर पर दिए गए बयान के बाद इसके निहितार्थ तलाशे जा रहे हैं।

यहां पर बड़ी संख्या में लोगो के साथ महिलाएं भी शामिल हुईं। यहां पर नौजवानों ने भी हुंकार भरी। इन लोगों ने कहा कि अब याचना नहीं रण होगा। इस बैनर के साथ कई जिले के नवयुवकों ने धर्म सभा में भरी हुंकार। इन सभी ने एक स्वर से कहा कि संत कहे तो अभी से शुरू हो जाए काम। नवयुवकों ने यहां धर्म सभा में जोश दिखाया। बड़ा भक्तमाल की बगिया में पहुंचे राम भक्तों ने कहा कि राम मंदिर बनवाने की दिशा में यहां से शंखनाद होगा।

Loading...

विश्व हिन्दू परिषद के उपाध्यक्ष चंपत राय ने यहां धर्मसभा में कहा कि अब हमारे सब्र की परीक्षा मत लें। जमीन बंटवारे का फार्मूला हमें मंजूर नहीं है। सुन्नी वक्फ बोर्ड अपना दावा वापस ले। हमको यहां पर राम मंदिर बनवाने के लिए पूरी जमीन की जरूरत है। वीएचपी के उपाध्यक्ष चंपत राय ने कहा कि छीन कर गई जमीन पर नमाज हमें स्वीकार नहीं है। यह जमीन जबरदस्ती ली गई है।

 

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

मोदी के संसदीय क्षेत्र में महिलाओ ने कैब व एनआरसी के खिलाफ जमकर किया प्रदर्शन, लगाए ये नारे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के बेनिया बाग में नागरिकता संशोधन कानून और ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *