कीवा ने भारत में लांच किया गया हिमालयन बेरियों से तैयार सबसे पोषक जूस

गोरखपुर। कीवा इंडस्ट्रीस ने आज हिमालयन बेरी जूस को लांच किया जो प्राकृतिक स्वास्थ्य के लिए एक प्रभावी फार्मूला होने के साथ ऑक्सीजन, विटामिन और खनिजों से भरपूर है। यह 190+ बायोएक्टिव पोषक तत्वों सहित एंटी-ऑक्सीडेंट के उच्चतम स्तर के साथ एक प्रीमियम प्राकृतिक रूप से तैयार किया गया जूस है, जो त्वचा को फ्री रेडिकल्स और प्राकृतिक उम्र बढ़ने की प्रक्रिया से बचाने के लिए शरीर की कोशिकाओं को पोषण प्रदान कर सकता है।

इस अवसर के दौरान, कीवा इंडस्ट्रीस के सीईओ डॉ. करन गोयल ने बताया कि, “हम पूरा ध्यान केंद्रितऔरअनुसंधान करने के बाद ही सबसे पोषण संबंधी स्वास्थ्य विकल्पों को लाने के लिए तत्पर हैं क्योंकि हम नवाचार के साथसर्वोच्च गुणवत्ता प्रदान करने के लिए प्रयास करते हैं। कीवा का यह नवीनतम लॉन्च स्वास्थ्य को बढ़ाने वाले पोषक तत्वों का एक मेल है जो एक स्वस्थ जीवन के लिए महत्वपूर्ण है। यह उत्पाद लॉन्च दिखाता है कि हम स्वास्थ्य उप्तादों में सर्वश्रेष्ठ लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

हिमालय से मिलने वाली शुद्ध चमत्कारी बेरी और प्रकृति के सबसे संतुलित फलों से युक्तयानिसीबकथॉर्न, यह उत्पाद पोषक मूल्यों का एक पैक है। हिमालयन बेरी एक सुपर फ़ूड है जिसमें संतरे से 12 गुना अधिक विटामिन सी के साथ फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन ए, बी 1, बी 12, ई, के,फ्लेवोनोइड्स, लाइकोपीन, कैरोटीनॉयड्स और फाइटोस्टेरॉल एवं 3, 6, 9 और दुर्लभ 7 सहित एक उच्चओमेगा फैटी एसिड की मात्रा है।

सीबकथॉर्न या हिप्पोफे रैमनोइड्स पर्वतीय क्षेत्र के महत्वपूर्ण प्राकृतिक संसाधनों में से एक है, जो ठन्डे वातावरण में 4000-14000 फीट की ऊंचाई पर पाया जाता है। यह चमत्कारिक फल शरीर के कई कार्यों जैसे ह्रदवाहिनी, उचित मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र, त्वचा और बाल, पाचन तंत्र, मूत्रजननांगी और कई अन्य का समर्थन करने में सहायक है।

Loading...

सीबकथॉर्न पर 130 से अधिक आधुनिक वैज्ञानिक अध्ययनों में शोध किया गया है जिनमें पाया है कि यह बेरी स्वास्थ्य को बढ़ावा देती है। रक्षा अनुसंधान और विकास संस्था (DRDO), भारत ने सीबकथोर्न के अपार लाभों को समर्थन और मान्यता दी है। भारतीय सेना के सैनिकों के लिए विशेष रूप से ज्यादा ऊंचाई पर सेवा करने वालों के लिए सीबकथोर्न की सलाह दी जाती है।

डॉ. जेम्स लियू (महाप्रबंधक) हेल्थ किंग एंटरप्राइज एंड बैलेंसुटिकल्स ग्रुप इंक, शिकागो ने कहा कि “सीबकथॉर्न तेल जले हुए पीड़ितों के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है क्योंकि यह‘त्वचा उपचार प्रक्रिया’ का समर्थन करता है और त्वचा को नरम बनाता है। ओमेगा -7 किसी एक पौधे में प्राकृतिक रूप से पाया जाना बहुत दुर्लभ है और सीबकथॉर्न में यह सबसे अधिक रूप में होता है।”

सीबकथॉर्न स्वस्थ शरीर की सामान्य प्रक्रियाओं में सहायता करता है और जोड़ों में दर्द से राहत देता है। इसके कैरोटेनोइड्स और बीटा कैरोटीनॉयड्स उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करने में सहायता करते हैं और लाइकोपीन-प्रोस्टेट और कोलन सेल स्वास्थ्य को बनाए रखते हैं। इसके एंटी-ऑक्सीडेंट्स सेल को नुकसान पहुंचाने वाले फ्री रेडिकल्स से लड़ते हैं, एंटी-एजिंग लाभ प्रदान करते हैं और स्वस्थ सेल प्रजनन का समर्थन करते हैं। इसके फ्लेवोनोइड्स कोशिका को मुक्त कणों से लड़ने में मदद करते हैं, स्वस्थ सेलुलर कायाकल्प की प्रक्रिया में सहायता करते हैं, स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली कार्य को बढ़ावा देते हैं।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

चलन से बाहर नहीं होंगे 100,10 और पांच रुपये के पुराने नोट : आरबीआई

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें  भारतीय रिजर्व बैंक ने आज स्पष्ट किया है ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *