Wednesday , September 22 2021
Breaking News

धार्मिक पर्यटन विकास में आएगी तेजी, अयोध्या-काशी पर फोकस

लखनऊ। यूपी में धार्मिक पर्यटन की असीम संभावनाओं को धरातल पर उतारने में जुटी योगी सरकार की कोशिशें अब और तेज होने जा रही हैं। बुधवार को विधानसभा में पेश अनुपूरक बजट में सरकार की यह मंशा साफ दिखाई देती है। अनुपूरक बजट में अयोध्या में जहां नागरिक सुविधाओं को बेहतर करने के लिए प्रस्ताव शामिल हैं, तो काशी में गंगा नदी से काशी विश्वनाथ मंदिर तक के मार्ग के विस्तारीकरण/सुंदरीकरण के लिए अतिरिक्त बजटीय मांग रखी गई है।

  • अनुपूरक बजट में अयोध्या में नागरिक सुविधाओं को बेहतर करने के लिए प्रस्ताव
  • काशी में गंगा नदी से काशी विश्वनाथ मंदिर तक के मार्ग का होगा विस्तारीकरण

बीते दिनों अयोध्या में जारी विकास कार्यों का भौतिक निरीक्षण करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ नेअयोध्या नगरी के विकास के सभी काम योजना बनाकर चरणबद्ध तरीके से करने के निर्देश दिए थे। उन्होंने कहा था कि अयोध्या नगरी का विकास इस प्रकार से किया जाए कि यहां आने वालों को कोई दिक्कत न हो। यातायात की व्यवस्था सुगम हो, इसके लिए सड़कों का चौड़ीकरण कराया जाए। सड़कों के दोनों ओर सभी जनसुविधाओं जैसे-पेयजल, शौचालय इत्यादि की अच्छी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए अलग-अलग जगहों पर मल्टी लेवल पार्किंग का निर्माण किया जाए, साथ ही अयोध्या में अंडरग्राउण्ड केबलिंग की व्यवस्था भी की जाए। अब अनुपूरक बजट में इस बाबत धनराशि का प्राविधान होने के बाद इन कामों में तेजी आने के पूरे आसार हैं।

मालूम हो कि, सीएम योगी की सरकार सूबे के धार्मिक स्थलों को लेकर खासा मेहरबान रही है। विंध्यधाम, वृंदावन, नैमिषारण्य, चित्रकूट जैसे विशेष महत्व के धार्मिक स्थलों के साथ-साथ हर विधानसभा में धार्मिक महत्व एक-एक स्थल के पुनरोद्धार का काम जोरों पर चल रहा है। फरवरी में पेश वित्तीय वर्ष 2021-22 के बजट में अयोध्या के साथ-साथ काशी, चित्रकूट, जैसे पौराणिक धार्मिक स्थलों को सजाने और संवारने के लिए सरकार ने खजाना खोल दिया था।

About Samar Saleel

Check Also

21 सितंबर से चलेगी सामान्य बहस….25 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र को संबोधित करेंगे PM मोदी

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अमेरिका की यात्रा के दौरान ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *