Breaking News

रुपयों के विवाद में रिटायर्ड पशु चिकित्सक की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार

औरैया। जनपद के सदर इलाके में उधारी के रुपये वापस ना देने की बदनियती से रिटायर्ड पशु चिकित्सक की हत्या कर दी गयी। पुलिस ने घटना का खुलास करते हुए चार के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर चावल मिल मालिक समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस अधीक्षक सुनीति ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि शहर के दिबियापुर रोड़ वाईपास निवासी कैलाश नारायण दीक्षित (68) बुधवार को दिन में तीन बजे अपने घर से मोटरसाइकिल से अपने परिचित कुंवर बहादुर राठौर की चावल मील गये थे जो देर रात तक वापस अपने घर पर नही लौटे तो उनके पुत्र विनय दीक्षित की मौखिक सूचना पर जनपदीय पुलिस ने उनकी तलाश का अभियान शुरु किया, इस दौरान उनका शव दिबियापुर थाना क्षेत्र के ग्राम सौधेमऊ में एक बाजरे के खेत में मृत अवस्था में चोटिल हालत में पाया गया। जिस पर पुत्र विनय दीक्षित ने आज कोतवाली में तहरीर देकर चावल मिल मालिक कुंवर बहादुर, उनके नौकर हाकिम निषाद, कुंवर बहादुर के साढू राजीव राठौर व कुंवर बहादुर के मित्र सुधीर शुक्ला के विरुद्ध पैसे के लेन देन के चलते कार से ले जाकर उनकी हत्या कर दी और शव को खेत में छुपा दिया।

उन्होंने बताया कि पुलिस ने चारों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कर इस सनसनीखेज घटना के त्वरित अनावरण के लिये कोतवाली पुलिस व सर्विलांस टीम को निर्देशित किया। जिसके बाद आज वांछित/वारण्टी व सक्रिय अपराधियों की तलाश में मुखविर की सूचना पर पुलिस ने कुंवर बहादुर निवासी नरायनपुर औरैया व हाकिम निषाद निवासी निषादनगर औरैया को दिबियापुर रोड नहर से फफूंद जाने वाले रोड पर एक स्कूटी पर जाते समय गिरफ्तार कर लिया।

Loading...

पूछतांछ में अभियुक्त कुंवर बहादुर ने बताया कि मृतक कैलाश नरायन दीक्षित का उसके ऊपर काफी पैसा उधार था वह अपना पैसा बार-बार मांगता था, इससे पूर्व उसके द्वारा मृतक को तीन प्लाट राइस मिल के पीछे विक्रय किया था। पुनः पैसा उधार होने पर राइस मिल के सामने की जमीन विक्रय करने हेतु मृतक द्वारा उससे कहा जा रहा था, किन्तु राइस मिल के सामने रोड साइड की जमीन बैंक में बंधक होने के कारण विक्रय नहीं कर सकता था।

बार-बार की किच-किच से तंग आकर उसने अपने नौकर हाकिम निषाद व दोस्त सुधीर शुक्ला के साथ मिलकर योजना बनाई और कल जब कैलाश नारायण अपने पैसे की बात करने चावल मिल पर पहुंचे तो उन्होंने चाय में बेहोशी की दवा मिलाकर बेहोश कर मोटरसाइकिल व कपड़े मील में छिपा दिये तथा उसकी डायरी, चैकबुक व झोला मील के अन्दर जला दिये और उसे बिहोशी हालत में अपनी कार में बैठाकर सौंधेमऊ गाँव में बाजरे के खेत में ले जाकर ईट पत्थरो से सिर पर वार करके हत्या कर दी। बताया कि घटना के सम्बन्ध में और वैज्ञानिक साक्ष्य संकलन अभी किया जा रहा है। पकड़े गए आरोपियों को जेल भेजा जा रहा है।

रिपोर्ट-अनुपमा सेंग

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

गोरखपुर गोलीकांड: पुलिस की भूमिका पर उठ रहे हैं सवाल, एसएसपी बोले- ‘होगी जांच’

गोरखपुर में लूट, हत्या की कोशिश और मोहद्दीपुर में गैंगवार की तरह फायरिंग करने का ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *