Breaking News

रोडिक कंसल्टैंट्स ने अपना 24वां स्थापना दिवस मनाया

लखनऊ। रोडिक कंसल्टैंट्स, अग्रणी इंजीनियरिंग एवं डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर कंसल्टिंग कंपनी ने एक शानदार दो दिवसीय कार्यक्रम के जरिए अपनी 24 वीं वर्षगांठ मनायी। रोड़िक के मुख्यालय में एक हाइब्रिड प्रारूप में संपन्न समारोह में न केवल दो दशक से अधिक की उत्कृष्टता को याद किया गया, बल्कि इसने अगले वर्ष कंपनी की रजत जयंती समारोह के लिए एक उत्साही भूमिका भी तैयार की।

इस समारोह में सम्मानीय अतिथि भास्कर कुल्बे, पूर्व सलाहकार पीएमओ द्वारा वर्चुअल संबोधन किया गया, जिसमें रोडिक के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक राज कुमार, मुख्य परिचालन अधिकारी अंशुमान कृष्णु, मुख्य वित्तीय अधिकारी सपन गुप्ता, मुख्य मानव संसाधन अधिकारी अजय श्रीवास्तव और रोडिक के कर्मचारी उपस्थित थे।

रोडिक कंसल्टैंट्स ने अपना 24वां स्थापना दिवस मनाया

रोडिक कंसल्टैंट्स के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक राज कुमार ने कहा, हमारी यात्रा 24 साल पहले बिहार में एक साधारण शुरुआत के साथ शुरू हुई थी और आज, हम 2,000 से अधिक कर्मचारियों की एक टीम के रूप में विकसित हो चुके हैं। यह टीम के प्रत्येक सदस्य की दृढ़ता और लगन के बिना संभव नहीं हो सकता था।

इस अवसर ने खेल एवं शिक्षा के क्षेत्र में रोडिक के जनकल्याणकारी कामों को सामने लाने के एक प्लेटफार्म का भी काम किया और पर्वतारोहण व साइकिलिंग की यात्राओं के सभी एथलीटों को सम्मानित किया गया जैसे पर्वतारोही बलजीत कौर (माउंट एवरेस्ट की अभियानकर्त्ता), साइक्लिस्ट जॉन जिव्हाइट (पेरिस-ब्रेस्ट-पेरिस में असाधारण प्रदर्शन के लिए), घुड़सवार आयुष राज, साइक्लिस्ट सुधीर शर्मा व बॉबी (जिन्होंने स्वस्थ जीवनशैली के प्रोत्साहन के लिए दिल्ली से आगरा तक की साइकिल यात्रा की) और डॉ सुनील शर्मा व उनकी पत्नी पायल शर्मा (जिन्होंने 14 दिनों में माउंट एवरेस्ट के बेस कैंप तक ट्रैकिंग की), उर्मिला अत्रि व हर्षा मिश्रा (तीन महीनों में दो देशों नेपाल व भूटान सहित देश के 17 राज्यों की अखिल भारतीय साइकिल यात्रा पूरी करने के लिए)।

शैक्षिक स्पासंरशिप एक अन्य आकर्षण रहा जहां रोडिक ने केशव शंकर को नैशनल इंस्टीट्यूट आफ टेक्नालाजी व चार्टड एकाउंटैंसी कर रही उपासना शंकर जैसी युवा उदीयमान प्रतिभाओं को उच्च शिक्षा के लिए सहयोग प्रदान किया।

About Samar Saleel

Check Also

उर्मिल रंग महोत्सव: राजा हो ‘महाराजा भर्तृहरि’ सरीखा और स्त्री चम्पा जैसी

‌लखनऊ। राजा हो तो भर्तृहरि ऐसा और स्त्री हो तो देशहित चाहते वाली चम्पा जैसी। एक ...