कन्या सुमंगला योजना के तहत जनपदों में आयोजित किए जाएंगे स्वावलम्बन कैम्प

  • 10 लाख से अधिक पात्र बालिकाएं लाभान्वित
  • स्वावलम्बन कैम्प के लिए निर्धारित की गई 26 अक्टूबर, 12 व 25 नवम्बर तथा 8 व 22 दिसम्बर की तारीख
  • स्वावलम्बन कैम्पों में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, पति की मृत्यु उपरांत, निराश्रित महिला पेंशन योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना लाभार्थियों के आवेदन पत्र को पूर्ण कराते हुये, लाभान्वित किया जायेगा

लखनऊ। राज्य सरकार की ओर से महिला कल्याण विभाग द्वारा स्वावलम्बन कैम्प का आयोजन अब अक्टूबर से दिसम्बर तक किया जा रहा है। इन कैम्पों में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, पति की मृत्यु उपरांत, निराश्रित महिला पेंशन योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना (सामान्य) लाभार्थियों के आवेदन पत्र को पूर्ण कराते हुये, लाभान्वित किया जायेगा। 26 अक्टूबर, 12 व 25 नवम्बर तथा 08 व 22 दिसम्बर, 2021 को समस्त जनपदों में यह कैम्प आयोजित किये जा रहे है। इसके पूर्व 12 अक्टूबर को स्वावलम्बन कैम्प का आयोजन किया गया था।

प्रदेश में समान लिगांनुपात स्थापित करने कन्या भ्रूण हत्या को रोकने, बालिकाओं के स्वास्थ्य व शिक्षा को सुदृढ करने, बालिकाओं के परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान करने तथा बालिका के प्रति आम जन में सकारात्मक सोच विकसित करने हेतु मुख्यमंत्री द्वारा 2019 में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की शुरू की गयी है। योजना के अन्तर्गत देय धनराशि पीएफएमएस के माध्यम से सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में हस्तान्तिरित की जा रही है। योजना के तहत जिनका परिवार उत्तर प्रदेश का निवासी हो, जिनकी पारिवारिक वार्षिक आय अधिकतम 3.00 लाख रूपये तथा जिनके परिवार में अधिकतम दो बच्चे हों उन्हें इस योजना से लाभान्वित किया जा रहा है।

योजना के अन्तर्गत बालिकाओं को कुल 6 श्रेणियों में जन्म के समय 2000 रूपये, एक वर्ष के टीकाकरण पूर्ण करने पर 1000 रूपये कक्षा-1 में प्रवेश के समय 2000 रूपये, कक्षा-6 में प्रवेश के समय 2000 रूपये, कक्षा-9 में प्रवेश के समय 3000 रूपये तथा दसवीं/बारहवीं परीक्षा उत्तीर्ण कर डिग्री या दो वर्षीय या अधिक के डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लेने पर 5000 रूपये प्रदान किये जा रहे है।

योजना के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु महिला कल्याण विभाग द्वारा जुलाई-अगस्त 2021 में विशेष अभियान संचालित करते हुये बालिकाओं को चिन्हित व लाभान्वित किया गया है। योजना के अन्तर्गत अब तक 10 लाख से अधिक पात्र बालिकाओं को लाभान्वित किया गया है। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना कैम्प मिशन शक्ति के पूर्व चरणों तथा आने वाले चरणों में भी इस योजना के प्रचार-प्रसार में विशेष ध्यान दिया जा रहा है। कैम्प तथा अन्य प्रचार-प्रसार कार्यक्रमों में जनप्रतिनिधियों तथा विभिन्न विभागों यथा शिक्षा, स्वास्थ्य आदि का सहयोग लिया जा रहा है।

   दया शंकर चौधरी

About Samar Saleel

Check Also

योग व प्राकृतिक चिकित्सा से मातृत्व संरक्षण

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ विश्वविद्यालय के फैकल्टी ऑफ योग एंड अल्टरनेटिव ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *