Breaking News

नेपाल जा रहे युवक को डराकर 28 हजार वसूलने वाले सिपाही गिरफ्तार, गोरखपुर जेल भेजे गए

नेपाल जा रहे युवकों से 28 हजार रूपये वसूलने के मामले में आरोपित दोनों सिपाहियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। तुलसीपुर के पुलिस उपाधीक्षक राघवेंद्र प्रताप सिंह ने दोनों सिपाहियों राजू यादव व घ्रुवचंद को गोरखपुर में भ्रष्टाचार निवारण कोर्ट में पेश किया। जहां से आरोपित सिपाहियों को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया। अब दोनों सिपाहियों का ठिकाना गोरखपुर जेल होगा।

ललिया थाने के कोडरी निवासी हकीम खान ने जरवा थाने में सिपाही राजू यादव को नामजद करते हुए एक अज्ञात सिपाही पर भ्रष्टाचार का केस दर्ज कराया था। विवेचना पुलिस उपाधीक्षक तुलसीपुर को सौंपी गई, उन्होंने दूसरे सिपाही का नाम उजागर किया। इसके बाद दोनों सिपाहियों को थाने में ही गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस उपाधीक्षक ने बताया कि दोनो सिपाहियों को गोरखपुर ले जाकर न्यायालय में पेश किया गया। सीओ ने बताया कि मामले की रिपोर्ट पुलिस अधीक्षक को भेज दी गई है। वहीं पुलिस अधीक्षक केवश कुमार ने बताया कि दोनों सिपाहियों को निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही पूरे मामले की जांच की जा रही है। पुलिस महकमे में हुई इस कार्रवाई से खलबली मची है।

शमशाद और कय्यूम की माेबाइल में छुपे हैं कई राज
सिपाहियों ने हकीम खान से 28 हजार रूपये लिए थे जिसमें चार हजार नकद था और 24 हजार रूपये शमशाद और कय्यूम के मोबाइल पर फोन- पे रूपये मंगाया था। मामले में केस दर्ज होने के बाद शमशाद और कय्यूम का मोबाइल भी पुलिस ने जब्त कर लिया है। माना जा रहा है कि यह लोग उन सिपाहियों के करीबी थे अक्सर लेनदेन इन्हीं से मिलकर होता था। इसमें थाने के सामने चाय की दुकान करने वाला कय्यूम थाने का चौकीदार भी है और लोगों की तहरीर भी लिखता है। इसकी मोबाइल से कई अहम मामले सामने आ सकते हैं।

About News Desk (P)

Check Also

“लैंग्वेज एंड कम्युनिकेशन” विषय पर कार्यशाला का आयोजन

लखनऊ। डॉ राम मनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय की शिक्षिका डॉ अलका सिंह ने नवयुग ...