Breaking News

अस्पताल में ड्यूटी के दौरान नर्सों के मलयालम बोलने पर बैन! प्रशासन को वापस लेना पड़ा फैसला

दिल्ली के गोविंद बल्लभ पंत इंस्टीट्यूट आफ पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च अस्पताल (जीबी पंत अस्पताल) ने शनिवार को एक सर्कुलर जारी कर अपने स्टाफ को बातचीत की भाषा के लिए केवल हिंदी और अंग्रेजी भाषा का उपयोग करने का निर्देश दिया था।

नर्सों के मलयालम बोलने पर रोक वाले आदेश को दिल्ली के जीबी पंत अस्पताल ने वापस ले लिया है। इस आदेश पर राहुल गांधी ने सवाल खड़े किए थे। उन्होंने कहा था कि मलयालम भी एक भारतीय भाषा है, इस पर किसी को कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए।

उल्लेखनीय है कि अस्पताल के नर्सिंग अधीक्षक लीलाधर रामचंदानी ने शनिवार को एक परिपत्र जारी करके अपने नर्सिंग कर्मचारियों को काम के दौरान मलयालम भाषा में बात नहीं करने को कहा था, क्योंकि ”अधिकतर मरीज और सहकर्मी इस भाषा को नहीं जानते हैं,” जिसके कारण बहुत असुविधा होती है।

अस्पताल के नर्सिंग अधीक्षक ने शनिवार को एक परिपत्र जारी करके अपने नर्सिंग कर्मचारियों को काम के दौरान मलयालम भाषा में बात नहीं करने को कहा था, क्योंकि अधिकतर मरीज और सहकर्मी इस भाषा को नहीं जानते हैं, जिसके कारण बहुत असुविधा होती है.

About News Room lko

Check Also

बिहार में कोरोना के घटते केस को लेकर आज कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं सीएम नीतीश कुमार, जरुर देखें

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें बिहार में लॉकडाउन लगाए जाने के बाद से ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *