Breaking News

प्रत्येक क्वाड देश के 25-25 छात्रों को विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित में दी जाएगी फेलोशिप

भारतीय विदेश मंत्रालय ने एक ट्वीट कर कहा क्वाड फेलोशिप का शुभारंभ। अपनी तरह का यह पहला छात्रवृत्ति कार्यक्रम है जो विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित में ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और संयुक्त राज्य अमेरिका के शीर्ष दिमागों को एक साथ लाएगा।

नई दिल्ली। टोक्यो में चल रही क्वाड समिट मंगलवार को समाप्त हो गई है। इसका समापन ‘क्वाड फेलोशिप इंवेट’ से हुआ। क्वाड के चारों नेताओं भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, अमेरिक के राष्ट्रपति जो बाइडन, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री एंथनी अल्बनीज और जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा की मौजूदगी में इस इवेंट क्वाड फेलोशिप प्रोग्राम की घोषणा की गई।

प्रत्येक क्वाड देश के 25-25 छात्रों को विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित में दी जाएगी फेलोशिप

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री एंथनी अल्बनीज और जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा क्वाड फेलोशिप इवेंट में रहे मौजूद।

भारतीय विदेश मंत्रालय ने एक ट्वीट कर कहा क्वाड फेलोशिप का शुभारंभ। अपनी तरह का यह पहला छात्रवृत्ति कार्यक्रम है जो विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित में ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और संयुक्त राज्य अमेरिका के शीर्ष दिमागों को एक साथ लाएगा।

मंत्रालय की तरफ से किए गए एक अन्य ट्वीट में कहा गया यह फेलोशिप प्रति वर्ष 100 छात्रों को प्रदान की जाएगी जिसमें प्रत्येक क्वाड देश के 25-25 छात्र शामिल रहेंगे, जिन्हें संयुक्त राज्य अमेरिका के विश्वविद्यालयों से विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित में स्नातक, मास्टर्स और डॉक्टरेट की डिग्री हासिल करने का अवसर मिलेगा। इससे सभी क्षेत्रों में नवाचार और सहयोग को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध विशेषज्ञों का एक नेटवर्क विकसित होगा।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दो दिवसीय यात्रा पर जापान में है। उन्होंने 23 और 24 मई को टोक्यो में आयोजित हुए क्वाड सम्मेलन में हिस्सा लिया। 40 घंटे के अपने कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने 23 बैठकों में हिस्सा लिया। साथ ही, उन्होंने 36 जापानी सीईओ और प्रवासी भारतीयों से बातचीत भी की। अपनी यात्रा से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने जापानी भाषा के एक अग्रणी अखबार ‘योमियुरी शिम्बुन’ में एक लेख भी लिखा था जिसमें उन्होंने भारत-जापान के घनिष्ठ संबंधों पर प्रकाश डाला था।

रिपोर्ट: शाश्वत तिवारी

About reporter

Check Also

मुश्किलों से घिरे ब्रिटेन के PM बोरिस जॉनसन, बगावत के चलते 39 मंत्री और संसदीय सचिव ने छोड़ा पद

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें ब्रिटेन में दो मंत्रियों के पद छोड़ने के ...