Breaking News

लगातार तेजी के बाद पीली धातू के दाम में बड़ी गिरावट, जाने आज का ताजा भाव

नए साल 2023 के तीसरे कारोबारी हफ्ते के चौथे दिन गुरुवार को सोने और चांदी के दाम में गिरावट दर्ज की गई। लगातार तेजी के बाद पीली धातू के दाम में गिरावट से ग्राहक खुश नजर आ रहे हैं। गुरुवार को सोना 85 रुपये प्रति 10 ग्राम की दर से सस्ता हुआ, जबकि चांदी की कीमत में 1549 रुपये प्रति किलो की दर की बड़ी गिरावट दर्ज की गई।

गुरुवार को सोना (Gold Price Update) 85 रुपये प्रति 10 ग्राम की दर से सस्ता होकर 56670 रुपये प्रति किलो के स्तर पर बंद हुआ। जबकि पिछले कारोबारी दिन बुधवार को सोना 3 रुपये प्रति 10 ग्राम की तेजी के साथ 56755 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर बंद हुआ था।

गुरुवार को सोने के साथ-साथ चांदी (Gold Price Update)) की कीमत में भी गिरावट दर्ज की गई। गुरुवार चांदी 1549 रुपये सस्ती होकर 67444 रुपये प्रति किलो पर बंद हुई। जबकि पिछले कारोबारी दिन बुधवार को चांदी (Silver Rate) 322 रुपये की तेजी के साथ 68993 रुपये प्रति किलो के स्तर पर बंद हुई थीा

इस तरह 24 कैरेट वाला सोना 85 रुपये सस्ता होकर 56670 रुपये, 23 कैरेट वाला सोना 85 रुपया सस्ता होकर 56443 रुपये, 22 कैरेट वाला सोना 78 रुपया सस्ता होकर 51910 रुपये, 18 कैरेट वाला सोना 63 रुपया सस्ता होकर 42503 रुपये और 14 कैरेट वाला सोना 54 रुपया सस्ता होकर 33152 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर बंद हुआ।

इस तेजी के बाद सोना अपने ऑलटाइम हाई से 213 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता बिकने लगा है। आपको बता दें कि इससे पहले सोने ने 16 जनवरी 2022 में अपना ऑलटाइम हाई बनाया था। उस दिन सोना 56883 रुपये प्रति दस ग्राम के स्तर तक चला गया था। वहीं चांदी अभी भी अपने उच्चतम स्तर से करीब 10987 रुपये प्रति किलो की दर से सस्ता मिल रहा था। चांदी का अबतक का उच्चतम स्तर 79980 रुपये प्रति किलो है।

सर्राफा बाजार के जानकारों की मानें तो खरमास के बाद 15 जनवरी को मकर संक्राति के साथ ही देश में एकबार फिर वेडिंग सीजन शुरू हो जाएगा। ऐसे में आने वाले दिनों सोना और चांदी की कीमत में तेजी का दौर जारी रहेगा। साथ ही इन लोगों का कहना है कि इस साल 2023 में सोने के दाम लगातार अपने हाई बना रहेगा। ऐसे में अगर आपके यहां भी शादी-व्याह है और आपको सोना खरीदना है तो आप जल्द से जल्द खरीद लें। ताकि आपको कुछ फायदा हो सके पाए।

About News Room lko

Check Also

भारतीय कपास के निर्यात में 67 प्रतिशत वृद्धि की उम्मीद, बांग्लादेश में बढ़ी मांग से होगा लाभ

बांग्लादेश की मिलों में कॉटन (कपास) की बढ़ती मांग की वजह से भारत के कॉटन ...