Breaking News

जहाजों पर हमले के बाद नौसेना ने समुद्र में बढ़ाई निगरानी, ईईजेड इलाके की की जा रही विशेष सुरक्षा

लाल सागर और अरब सागर में हाल के समय में कई व्यापारिक जहाजों हमलों के बाद भारतीय नौसेना ने निगरानी बढ़ा दी है। खासकर ईईजेड इलाके में विशेष तौर पर निगरानी की जा रही है। नौसेना ने बयान जारी कर बताया कि ‘हाल के समय में लाल सागर, अदन की खाड़ी और सेंट्रल और उत्तरी अरब सागर में व्यापारिक जहाजों पर हमलों की कई घटनाएं हुई हैं। ऐसे में इस अंतरराष्ट्रीय शिपिंग रूट की सुरक्षा और निगरानी के लिए भारतीय नौसेना ने कई कदम उठाए हैं।’

नौसेना ने समुद्र में तैनात किए अपने युद्धक जहाज
नौसेना ने बताया ‘डेस्ट्रॉयर और फ्रिगेट से लैस टास्क ग्रुपों की समुद्र में तैनाती की गई है। किसी भी जहाज पर हमले की स्थिति में ये टास्क ग्रुप तुरंत प्रतिक्रिया देंगे। साथ ही हवाई निगरानी के लिए लंबी दूरी के मेरीटाइम एयरक्राफ्ट पेट्रोलिंग कर रहे हैं। ईईजेड इलाके की प्रभावी तौर पर निगरानी की जा रही है। नौसेना, तटरक्षक बल के साथ समन्वय करके ऑपरेशन चला रही है।’ नौसेना ने बताया कि ‘हाल ही में भारत के ईईजेड इलाके के नजदीक जहाजों पर हमले हुए थे। एमवी रुएन जहाज भारतीय तट से करीब 700 नॉटिकल मील था, जब उसे समुद्री लुटेरों ने कब्जाने की कोशिश की। वहीं जब एमवी केम प्लूटो जहाज पर ड्रोन हमला हुआ तब वह भारत के पोरबंदर तट से करीब 220 नॉटिकल मील दूर था। नौसेना क्षेत्र में व्यापारिक जहाजों की सुरक्षा के लिए समर्पित है।’

About News Desk (P)

Check Also

KCR की याचिका पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट, बिजली क्षेत्र की अनियमितताओं से जुड़ा है मामला

सर्वोच्च न्यायालय कल बीआरएस प्रमुख के. चंद्रशेखर राव की याचिका पर सुनवाई करेगा। राव ने ...