Breaking News

क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग के लिए अग्रसर हो विश्वविद्यालय – आनंदीबेन पटेल

• राज्यपाल से मिली ए++ ग्रेड प्राप्त चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय की टीम

• अन्य विश्वविद्यालयों के मार्ग-दर्शन हेतु बनाएं पुस्तक-राज्यपाल

• विश्वविद्यालय में स्वच्छता और शैक्षिक गुणवत्ता में निरंतरता बनाए रखें

• तैयारियों के लिए गठित टीम अपने कार्यों को यथावत् करती रहे

लखनऊ। प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से आज यहाँ राजभवन में ए++ नैक ग्रेडिंग प्राप्त चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ की कुलपति प्रो संगीता शुक्ला तथा नैक तैयारियों के लिए गठित विश्वविद्यालय की टीम के सदस्यों ने मुलाकात की। कुलपति एवं टीम के सभी सदस्यों ने नैक में उच्चतम ग्रेड प्राप्ति के लिए प्रेरित करने और व्यापक दिशा-निर्देश देने हेतु राज्यपाल का आभार व्यक्त किया।

WPL 2023: मुंबई इंडियंस ने गुजरात जायंट्स को हराया, दर्ज की लगातार पांचवीं जीत

राज्यपाल ने टीम के सभी सदस्यों से समस्त क्राइटेरिया वाइज तथा विश्वविद्यालय की समस्त गुणवत्ता सुधार के लिए की चरणबद्ध तैयारियों, समग्र योगदानों पर पुस्तक तैयार करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि ये पुस्तक नैक ग्रेडिंग की तैयारी कर रहे समस्त विश्वविद्यालयों को प्रेषित की जाए, जिससे वे कार्यों की जानकारी प्राप्त कर विश्वविद्यालय की गुणवत्ता सुधार कर नैक हेतु बेहतर तैयारी कर सकें।

राज्यपाल ने टीम के सभी सदस्यों को प्रद्त्त जिम्मेदारियों को सफलताहपूर्वक सम्पन्न करके उपलब्धिपरक सफलता प्राप्त करने के लिए बधाई देते हुए कहा कि वे अपने कार्यों को यथावत करते रहें, जिससे पांच साल बाद पुनः नैक ग्रेडिंग के अवसर पर उन्हें कोई भी अतिरिक्त प्रयास न करने हो। उन्होंने विश्वविद्यालय परिसर को स्वच्छ रखने और शैक्षिक गुणवत्ता में उत्तरोत्तर प्रगति के साथ गुणवत्ता बनाए रखने के लिए प्रेरित किया।

आनंदीबेन पटेल

नैक में ए++ ग्रेडिंग प्राप्त करके विश्वविद्यालय की उल्लसित टीम को गति प्रदान करते हुए राज्यपाल ने आगामी क्रम में क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग के लिए अग्रसर होने को कहा। कुलपति प्रो संगीता शुक्ला ने राज्यपाल को बताया कि राजभवन में नैक तैयारियों की बिंदुवार समीक्षा और राज्यपाल से प्रत्येक बिंदु पर समुचित दिशा-निर्देश ने विश्वविद्यालय की तैयारियों को उच्चतम गुणवत्ता तक पहुँचाया।

विदेश से मेडिकल की डिग्री लेने वालों के लिए बड़ी खबर, भारत में आकर करना होगा ऐसा..

उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त राज्यपाल के प्रयास से नैक मंथन कार्यशाला में प्रतिभागिता, पूना में भ्रमण, राजभवन में बीस देशों के भारतीय राजदूतों से मुलाकात और विचार-विमर्श जैसी गतिविधियों से विश्वविद्यालय में नैक क्राइटेरिया में वांछित गुणवत्ता से भी कहीं अधिक गुणवत्ता सुधार कर सकने की क्षमता हुई।

पियर टीम द्वारा ये भी पूछा गया कि विश्वविद्यालय स्तर पर प्रगति के आगामी दृष्टिकोण क्या हो सकते हैं। उन्होंने विद्यार्थियों की उल्लेखनीय सहभागिता की भी जानकारी दी। बैठक में विशेष कार्याधिकारी शिक्षा पंकज जॉनी, विश्वविद्यालय की टीम तथा अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।

About Samar Saleel

Check Also

नेपाल और भारत के बीच बहुत ही गहरा सांस्कृतिक सम्बन्ध है- नारायण प्रसाद सऊद

• नेपाल के विदेश मंत्री पहुंचे अयोध्या, किया रामलला का दर्शन अयोध्या। आज (शनिवार) नेपाल ...