Breaking News

15 से चलेगा आयुष्मान पखवाड़ा, बनाए जाएंगे निःशुल्क आयुष्मान कार्ड

औरैया। जनपद में आयुष्मान भारत योजना पखवाड़ा गुरुवार से शुरू हो रहा है। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अर्चना श्रीवास्तव ने एक बैठक में दी। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत) को पंख देने के लिए शासन ने सभी जनपदों में 15 सितम्बर से आयुष्मान पखवाड़ा चलाने के लिए निर्देश जारी किए हैं। जिले में अभी भी कई ऐसे परिवार हैं, जिनका योजना में नाम है लेकिन उनका आयुष्मान कार्ड बना हुआ नहीं है। इस पखवाड़े में उनसे संपर्क साधकर आयुष्मान कार्ड बनाने का काम तेजी से किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अभियान की सफलता के लिए लक्षित लाभार्थियों की ग्रामवार या वार्डवार सूची चस्पा करने और स्थानीय आशाओं को भी यह सूची दे दी गयी है।

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी और योजना के नोडल अधिकारी डॉ. वीरेंद्र भारती ने बताया कि जनपद में 1,53,289 परिवार आयुष्मान भारत योजना के पात्र लाभार्थी हैं। इनमें 77,220 परिवारों के आयुष्मान कार्ड बनाए जा चुके हैं। 9789 लोगों ने लाभ लिया है। उन्होंने बताया कि विशेष पखवाड़ा मनाने का उद्देश्य आयुष्मान कार्ड बनाने के कार्य को गति देना है। इसके अलावा आशा , आरोग्य मित्र और सीत्चो आष्युमान योजना में पात्र लाभार्थियों को चिन्हित कर उनके कार्ड बनवाएंगी। इसके लिए प्रत्येक परिवार में एक कार्ड बनवाने पर 5 रुपए व उसी परिवार के एक से अधिक कार्ड बनवाने पर 10 रुपए प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

सीडीओ की अध्यक्षता में गठित होगी टास्क फोर्स

आयुष्मान भारत योजना की जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ. ज्योतींद्र मिश्रा ने बताया कि मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में टास्क फोर्स का गठन भी किया जाएगा। और जिलाधिकारी की अध्यक्षता में अन्तर्विभागीय बैठक का आयोजन किया जाना है जिसमें पंचायती राज विभाग, ग्राम्य विकास विभाग, आईसीडीएस विभाग आदि के नोडल अधिकारी शामिल होंगे। इस दौरान क्षेत्र की आशा के साथ भी समन्वय स्थापित किया जाएगा। जो लाभार्थियों को कैंप तक लेकर जाएगी। इसके अलावा ब्लॉक स्तर पर प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर प्रभारी चिकित्सा अधिकारी की अध्यक्षता में टीम बनाई जाएगी।

यह है आयुष्मान योजना

आयुष्मान भारत योजना या प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, भारत सरकार की एक महत्वाकांक्षी स्वास्थ्य योजना है। इसका उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों (बीपीएल धारक) को मुफ्त स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराना है। इसके अन्तर्गत आने वाले प्रत्येक परिवार को 5 लाख तक के इलाज की सुविधा मुहैया करायी जाती है। योजना में राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना व कल्याण केंद्र अहम् हैं। इसके अंतर्गत गर्भावस्था देखभाल और मातृ स्वास्थ्य, नवजात और शिशु स्वास्थ्य, बाल स्वास्थ्य, जीर्ण संक्रामक रोग, गैर संक्रामक रोग, मानसिक बीमारी का प्रबंधन, दांतों की देखभाल, बुजुर्ग के लिए आपातकालीन चिकित्सा सेवाएं इत्यादि शामिल हैं।

कैसे जाने आपका नाम है या नहीं

· निशुल्क हेल्पलाइन नंबर 180018004444 पर काल करके।
· अपने क्षेत्र की आशा कार्यकर्ता से भी जानकारी ले सकते हैं।
· जनसेवा केंद्र में जाकर पता कर सकते हैं।
· अस्पतालों में तैनात आयुष मित्रों के द्वारा भी जानकारी ले सकते हैं।

रिपोर्ट-शिव प्रताप सिंह सेंगर 

About Samar Saleel

Check Also

केजीएमयू के एनाटामी विभाग में अस्थियों की पहचान में अपना सहयोग देगा लविवि 

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ विश्वविद्यालय किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के ...