उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग द्वारा आयोजित प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद उद्योग उन्नयन योजना अंतर्गत जनपद स्तरीय शिविर का उद्घाटन

वाराणसी। विधायक कैन्ट सौरभ श्रीवास्तव ने उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग, उत्तर प्रदेश द्वारा आयोजित ‘प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजनांतर्गत जनपद स्तरीय शिविर, का आयुक्त सभागार, वाराणसी में दीप प्रज्वलित कर उद्घाटन किया। विधायक सौरभ श्रीवास्तव ने खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में अच्छा काम करने वाले कई लघु उद्यमियों को सम्मानित भी किया।

इस अवसर पर बोलते हुए विधायक सौरभ श्रीवास्तव ने कहा कि “मुझे गर्व है कि मैं उत्तर प्रदेश की जनता का प्रतिनिधित्व करता हूं। उत्तर प्रदेश भौगोलिक एवं सांस्कृतिक विविधताओं से समृद्ध प्रदेश है। प्रदेश में लगभग 24 करोड़ लोग निवास करते हैं। कुल जनसंख्या का दो तिहाई भाग कृषि पर आधारित है। उत्तर प्रदेश आलू, खाद्यान्न, गन्ना, बागवानी फसलों के साथ-साथ पशुधन, दुग्ध उत्पाद के उत्पादन में देश में प्रथम स्थान पर है। चावल, बाजरा एवं सब्जियों के उत्पादन में दूसरे स्थान पर है।

इसके अतिरिक्त प्रदेश में आंवला, अमरुद तथा केला इत्यादि का भी प्रचुर उत्पादन होता है।” विधायक ने बताया कि “प्रदेश में खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में आईटी सेक्टर के बाद सबसे ज्यादा रोजगार सृजन की संभावनाएं विद्यमान है। प्रदेश के संगठित क्षेत्र में लगभग 62000 एवं असंगठित क्षेत्र में लगभग 3.5 लाख खाद्य प्रसंस्करण की इकाइयां स्थापित हैं। 2017 में भाजपा सरकार बनने के बाद उत्तर प्रदेश खाद्य प्रसंस्करण उद्योग नीति लाई गई थी विगत 5 वर्षों में प्रदेश में इस क्षेत्र में 3652 करोड़ का पूंजी निवेश किया गया। इन इकाइयों के माध्यम से लगभग 50 हजार लोगों को रोजगार प्राप्त हुआ। अब उत्तर प्रदेश खाद्य प्रसंस्करण उद्योग नीति 2022 आने वाली है।”

विधायक ने प्रदेश सरकार के प्रतिनिधि के तौर पर कार्यक्रम में आए उद्यमियों को एक अच्छी नीति लाए जाने का भरोसा दिया। विधायक ने यह भी बताया कि “प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना द्वारा सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों को रु 10 लाख प्रति इकाई पूंजीगत उपादान दिए जाने का प्रावधान भी है। उद्यमियों को इसका लाभ उठाना चाहिए। साथ ही महिला स्वयं सहायता समूह को स्वावलंबी बनाने के लिए ₹40000 प्रति महिला सीड कैपिटल के रूप में उपलब्ध कराया जा रहा है।

विधायक ने यह भी कहा “इन स्कीमों का लाभ उठाते हुए अधिक से अधिक खाद्य प्रसंस्करण इकाइयां स्थापित कराए जाने के सार्थक प्रयास किए जाने चाहिए।” विधायक ने विभाग के अधिकारियों को उद्यमियों को उद्योग लगाने से संबंधित तकनीकी जानकारी उपलब्ध कराने के लिए आभार व्यक्त किया।

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि रहे पद्मश्री रजनीकांत व चंद्रशेखर सिंह।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से उपस्थित रहे संयुक्त निदेशक भानु प्रकाश राम, निदेशक सुशील कुमार चौहान, उप कृषि निदेशक अखिलेश कुमार सिंह, जिला विकास अधिकारी विजय कुमार, काशी हिंदू विश्वविद्यालय के वैज्ञानिक डॉ. पीवी राजीव, वृक्षारोपण के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले सामाजिक संस्था सृजन के अध्यक्ष अनिल सिंह, उपनिदेशक ईश्वर नाथ सहाय, जिला उद्यान अधिकारी सुभाष कुमार, उप निदेशक उद्यान जयकरण सिंह, प्राचार्य खाद्य प्रसंस्करण भूपेश्वरी गौतम, प्रख्यात व्यापारी विपिन अग्रवाल व अन्य संचालन ज्योति कुमार सिंह ने किया।

रिपोर्ट-संजय गुप्ता 

About Samar Saleel

Check Also

ग्वालियर बनारस-ग्वालियर एक्सप्रेस के रेक संरचना में किया गया मामूली बदलाव

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। यात्री जनता की सुविधा के लिये ग्वालियर ...