Breaking News

BJP की नजर विपक्षी दलों के महापुरुषों पर

2019 के लोकसभा चुनाव आता देख BJP सहित अन्य पार्टियां सत्ता प्राप्ति के लिए एडी चोटी का जोर लगाती दिख सकती हैं। उदाहरण के तौर पर देखा जा सकता है की कैसे सपा और बसपा उत्तर प्रदेश में गठबंधन करने में जुटे हैं।

BJP : महापुरुषों के सहारे बिछी सियासी बिसात

यह कहना गलत होगा की सिर्फ सपा और बसपा ही सत्ता-प्राप्ति की भूखी हैं। 22 राज्यों में स्थापित बीजेपी की कोशिश होगी की वो अपने जीते हुए राज्यों को हाथ से ना जाने दे। इसके लिए बीजेपी दूसरे दलों के महापुरुषों का सहारा लेकर नई सियासी बिसात बिछाने में जुट गई है। समाजवादियों के आदर्श कर्पूरी ठाकुर के बाद बीजेपी के एजेंडे में अब बसपा के संस्थापक कांशीराम, समाजवादी नेता राममनोहर लोहिया और जय प्रकाश नारायण भी शामिल हो गए हैं।

इसे भी पढ़ेंलखनऊ उपजा में हुई शोकसभा, अटल जी को किया याद

महापुरषों के नाम की बनेगी सड़क

बीजेपी वैसे भी नाम और रंग परिवर्तन कराने वाली पार्टी के रूप में मशहूर होने लगी है और इसी दौरान उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने हर जिले में अपने विभाग की एक सड़क का नाम बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और जन नायक कर्पूरी ठाकुर के नाम पर करने का ऐलान कर दिया जिसके बाद केशव प्रसाद मौर्य की अगुवाई वाला पीडब्लूडी विभाग अब कांशीराम, राममनोहर लोहिया और जय प्रकाश नारायण के नाम पर भी सड़क बनाएगा।

Loading...

हर महापुरुष को मिले सम्मान

पिछड़ों और दलितों को अपनी तरफ करने में बीजेपी पूरी तरह से जुट चुकी है। इसके लिए वह अलग-अलग प्रतिनिधि सम्मेलन भी करा रही है।

हमारा मकसद जातीय वोटों की राजनीति नहीं बल्कि समाज में योगदान देने वाले हर महापुरुषों को सम्मान देने का है। जो गांधी परिवार में पैदा हुआ उसके नाम पर भी सड़कें बने और जो उस परिवार में नहीं, हम उसके नाम पर भी काम के प्रचार-प्रसार करेंगे। क्योंकि इन महापुरुषों का समाजिक योगदान बड़ा है। ; केशव प्रसाद मौर्य

पश्चिनी यूपी की बात करें तो वहां जाट वोट बैंक हथियाने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को पहले ही बीजेपी के बैनर का हिस्सा बना लिया गया है। अब बीजेपी की नजर बाकी दलों के महापुरुषों पर भी है। बीजेपी की तरफ से यूपी में पिछड़ी जातियों का प्रतिनिधित्व करने वाले केशव प्रसाद मौर्य का कहना है कि कांशीराम का हमारे समाज में अहम योगदान है। लेकिन इनके नाम पर अभी तक केवल वोट बटोरने की राजनीति करने वाले भले ही उनको भूल गए हों, लेकिन हम उनके नाम और योगदान जन-जन तक पहुंचाएंगे। उनका यह भी कहना है कि समाजवादी विचारक राम मनोहर लोहिया और आपातकाल के बड़े नेता जयप्रकाश नारायण के नाम पर भी प्रदेश में सड़कों के नाम रखे जाएंगे।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

वरिष्ठ पत्रकार के निधन पर रालोद अध्यक्ष ने जताया दुख

लखनऊ। राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. मसूद अहमद ने जाने-माने वरिष्ठ पत्रकार तथा कई ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *