सीबीआई ने प्रयागराज पहुंच महंत नरेंद्र गिरी की मौत की जांच शुरू की

      अजय कुमार

लखनऊ/प्रयागराज। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत की जांच की कमान सीबीआई ने संभाल ली है,आज शुक्रवार को सीबीआई की टीम प्रयागराज पहुंच गई।सीबीआई ने पहली एफआईआार भी दर्ज कर ली हैं।

इससे पहले महंत आत्महत्या कांड की जांच एसआईटी कर रही थीं,जिसने अब सभी सबूत सीबीआई का सौंप दिये हैं। अभी तक इस मामले में तीन लोगों का गिरफ्तार किया जा चुका है।

गौरतलब हो गत दिनों महंत ने कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी,उनके अनुयायिओं ने दरवाजा तोड़ कर उन्हें फंदे से उतारा था। मौके पर एक कथित सुसाइड नोट भी मिला था, जिसमें महंत के अपने शिष्य आनंद गिरि की प्रताड़ना से परेशान होने की बात कही गई थी। गौर करने वाली बात यह थी कि नरेंद्र गिरि की मौत को आनंद गिरि ने हत्या करार दिया है। इस बीच उनकी संपत्ति का मुद्दा भी उठने लगा था।

पुलिस के अनुसार, महंत नरेंद्र गिरी ने अपने सुसाइड नोट कां अपनी वसीयत बताया था और कहा था कि मठ और आश्रम को लेकर आगे क्या करना है। किस तरह से व्यवस्था होगी। क्या करना है। एक तरह से सुसाइड नोट उनका वसीयतनामा है। इसमें विस्तार से लिखा है कि किसे क्या देना है और किसके साथ क्या करना है।महंत नरेंद्र गिरी के सुसाइड नोट में उनके शिष्य आनंद गिरि का जिक्र था। पुलिस ने फिलहाल मामला दर्ज कर आनंद गिरि को गिरफ्तार कर लिया है. सुसाइड नोट वसीयत की तरह है. पुलिस ने कहा कि शिष्य आनंद गिरि से नरेंद्र गिरि दुखी थे।

About Samar Saleel

Check Also

डॉ. आंबेडकर के विचारों पर वर्तमान सरकार का अमल

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें डॉ. भीमराव रामजी आंबेडकर की प्रतिष्ठा में सर्वाधिक ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *