Breaking News

केन्द्र सरकार किसान विरोधी अध्यादेश लाकर उनका जबरन शोषण करने पर अमादा: डाॅ. मसूद अहमद

लखनऊ। पीपली (कुरूक्षेत्र) में किसान विरोधी अध्यादेश का विरोध कर रहे निर्दोष किसानों पर किये गये पुलिसिया लाठी चार्ज की घोर निंदा एवं भर्त्सना करते हुये राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. मसूद अहमद ने कहा कि केन्द्र सरकार किसान विरोधी अध्यादेश लाकर किसानों का जबरन शोषण करने पर अमादा है जिसका विरोध दर्ज करा रहे किसानों पर सरकार के इशारे पर प्रशासन द्वारा बर्बर लाठीचार्ज किया गया जो कि बेहद शर्मनाक है। सरकार का यह कृत्य किसान विरोधी चेहरे को उजागर करने वाला है।

डाॅ. अहमद ने कहा कि किसानों का शोषण करने लिए केन्द्र सरकार तीन किसान विरोधी अध्यादेश लायी है जिसमें कोई भी पैनकार्ड धारी किसानों की फसल खरीद सकेगा और अगर पैसो के लेन देन का विवाद होगा तो एसडीएम सुनवाई करेगा और अपील आदि भी डीएम व संयुक्त सचिव स्तर अर्थात सरकारी नियंत्रण के अधिकारियों द्वारा ही होगी, किसान सिविल कोर्ट में नहीं जा सकेंगे।

इन अध्यादेशों के माध्यम से सरकार मण्डियों को खत्म करना चाहती है जिससे किसानों को सरकार द्वारा न्यूनतम निर्धारित मूल्य भी नहीं मिल पायेगा। व्यापारी मनमर्जी तरीके से किसानों के साथ लूट करेंगे। उन्होंने कहा कि इन अध्यादेशों के द्वारा कालाबाजारी को बढावा मिलेगा और किसानों को एमएसपी का रेट भी नहीं मिल पायेगा। इन अधिनियमों के जरिये किसान खुद अपनी ही जमीन पर नौकर जैसे बन जायेंगे और पूंजीपति मनमानी करेंगे।

Loading...

रालोद प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सरकार के तीनों ही अध्यादेश किसान विरोधी है इनके माध्यम से सरकार किसानों का उत्पीड़न करना चाहती है और पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाना चाहती है। उन्होंने सरकार को आगाह करते हुये कहा कि राष्ट्रीय लोकदल किसानों के साथ है उनके पर किये गये अत्याचार के खिलाफ आवाज उठायेगा। किसी भी कीमत पर किसानों के साथ हो रहे अन्याय को राष्ट्रीय लोकदल बर्दाश्त नहीं करेगा और किसानों की हर लड़ाई में उनके साथ खड़ा है।

 

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

गोरखपुर गोलीकांड: पुलिस की भूमिका पर उठ रहे हैं सवाल, एसएसपी बोले- ‘होगी जांच’

गोरखपुर में लूट, हत्या की कोशिश और मोहद्दीपुर में गैंगवार की तरह फायरिंग करने का ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *