Breaking News

चतुरी चाचा के प्रपंच चबूतरे से…यह समय न लापरवाही का है और न ही एक दूसरे पर दोषारोपण का!

नागेन्द्र बहादुर सिंह चौहान

मैं आज जब प्रपंच चबूतरे पर पहुंचा, तब ककुवा, मुन्शीजी, बड़के दद्दा व कासिम चचा आदि चतुरी चाचा के आसन से दो गज की दूरी पर बैठे थे। सब कोरोना महामारी के विकराल रूप से डरे-सहमे हुए थे। मेरे पहुँचते ही चतुरी चाचा बोले- बहुत कठिन दौर आ गया है। पिछले साल के कोरोना से इस साल का कोरोना हजार गुने खतरनाक और जानलेवा है। हज़ारों हजार लोग रोज संक्रमित हो रहे हैं। कोरोना सैकड़ों लोगों को रोज निगल रहा है। अस्पताल से लेकर श्मशान तक लोगों की लाइन लगी है। दिन प्रतिदिन मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। ऐसे में बेड, दवा, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर कम पड़ गए हैं। कोरोना शहर से निकल कर गांवों में फैलने लगा है। अब तो सब भगवान भरोसे है।

ककुवा बोले- अखबार अउ टीवी पय समाचार देखिकय लागत हय कि कोराउना आधी आबादी सफाचट कय डारि। सत्तानशीन चुनाव-चुनाव खेलि रहे हयँ। अकाल मौत जनता ते खेलि रही हय। सात दिनमा केतना मनई कोराउना ते मरिय गवा। कौनव गिनती नाइ हय। श्मशान केरे फोटू अउ वीडियो देखिकय जू धुकुर-धुकुर करय लागति हय। सरकार का चाही महीना भरेका सब बन्द कय देय। सरकार का कुछ अइस व्यवस्था करयक चाही कि हर मरीज का समय पय इलाज मिलय।

ककुवा की बात का समर्थन करते हुए बड़के दद्दा ने कहा- जनता को खुद अपना लॉकडाउन लगाना चाहिए। हम लोगों को अब सिर्फ यह सोचना चाहिए कि जान है तो जहान है। पहले अपनी और अपने परिवार की जान बचाने की जरूरत है। अगर जिंदा बचेंगे तो आगे सब कर लेंगे। सरकारी तंत्र की उदासीनता और जनता की लापरवाही के चलते कोरोना बेकाबू हो गया है। कोरोना की इतनी भयावह स्थिति होने के बाद भी लोग बेमतलब बाहर घूमते हैं। ये लापरवाह लोग न मॉस्क लगा रहे हैं और न दो गज की दूरी का ख्याल रख रहे हैं। यही लोग कोरोना संक्रमण फैला रहे हैं। यूपी में पँचायत चुनाव के मतदान के बाद स्थिति और अधिक खराब होगी। चुनाव के चक्कर में तमाम लोग दूसरे शहरों से अपने गांव वापस आ रहे हैं।

चतुरी चाचा

मुन्शीजी बोले- इस वक्त अमेरिका के बाद भारत में ही सबसे ज्यादा संक्रमण हो रहा है। यहां मौतों का आंकड़ा रोज बढ़ता ही जा रहा है। सबसे बुरी स्थिति महाराष्ट्र की है। वहीं, केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल व राजस्थान आदि राज्यों में भी कोरोना सैकड़ों लोगों को रोज मौत की नींद सुला रहा है। यूपी की राजधानी लखनऊ में मौत तांडव कर रही है। चौबीस घण्टे में छह हजार नए कोरोना मरीज निकल रहे हैं। तमाम लोग बिना इलाज मर रहे हैं। अस्पताल से श्मशान तक लोगों की लाइन लगी है।
इसी बीच चंदू बिटिया गुनगुना नींबू पानी व गिलोय का काढ़ा लेकर आ गई। हम सबने नींबू पानी पीने के बाद गिलोय काढ़े का कुल्हड़ उठा लिया। बड़के दद्दा ने प्रपंच को आगे बढ़ाते हुए बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सहित अन्य कई मंत्री, विधायक, सांसद व जिम्मेदार अधिकारी भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। समाजवादी विचारक बाबू भगवती सिंह व उनके बड़े बेटे राकेश सिंह सहित आधा दर्जन पत्रकारों की कोरोना से मौत हो चुकी है।

कासिम चचा ने मुन्शीजी की बात को आगे बढ़ाते हुए कहा- पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव चल रहे हैं। उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव हो रहे हैं। ये चुनाव कोरोना संक्रमण को कई गुना बढ़ा देंगे। क्योंकि, विभिन्न राज्यों में चुनावी रैलियों और रोड शो में भारी भीड़ जुटाई जा रही है। यूपी के गांवों में पँचायत उम्मीदवार सैकड़ों समर्थकों के साथ अपना चुनाव प्रचार कर रहे हैं। कोरोना को लेकर नेता और जनता दोनों बेपरवाह बने हैं। चुनाव प्रचार में न कहीं मॉस्क दिखता है न दो गज की दूरी। इसको देखकर लगता ही नहीं कि देश में कोरोना महामारी चल रही है।

चतुरी चाचा ने कहा- यह समय न लापरवाही का है और न ही एक दूसरे पर दोषारोपण का। सब लोगों को कोरोना के खिलाफ एकजुट होकर जंग लड़ना चाहिए। सरकार सबके इलाज की व्यवस्था करे। साथ ही, कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सारे उपाय करे। कोरोना से जुड़े नियम-कानून का बड़ी सख्ती से पालन कराए। जनता कोरोना को हल्के में न लें। सब अपने घर में ही रहें। सारे लोग घर से बाहर निकलने पर मॉस्क और दो गज की दूरी का पालन करें। तभी हम सब कोरोना को पराजित कर सकेंगे।

चतुरी चाचा

अंत में मैंने हमेशा की तरह कोरोना अपडेट देते हुए बताया कि विश्व में अबतक 13 करोड़ 92 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इसमें करीब 30 लाख लोगों की मौत हो गई। इसी तरह भारत में अबतक एक करोड़ 33 लाख से अधिक लोग कोरोना से पीड़ित हो चुके हैं। जबकि एक लाख 75 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले 24 घण्टे में दो लाख 34 हजार से ज्यादा नए मरीज मिले हैं। वहीं, तेरह सौ से ज्यादा लोगों को कोरोना निगल गया। भारत सहित विश्व के अनेक देशों में टीकाकरण अभियान चल रहा है। लेकिन, टीके की दोनों खुराक ले चुके लोगों को भी कोरोना होने की बात सामने आ रही है। बहरहाल, सब लोग कुछ दिन घर में ही रहिये। कोविड-19 से जुड़े सभी नियमों का पालन करिए। इसी के साथ आज का प्रपंच समाप्त हो गया। मैं अगले रविवार को चतुरी चाचा के प्रपंच चबूतरे पर होने वाली बेबाक बतकही लेकर हाजिर रहूँगा। तबतक के लिए पँचव राम-राम!

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

सीएसआईआर सर्वेक्षण में पाया गया धूम्रपान करने वालों और शाकाहारियों में SERO-POSITIVITY होती है कम

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें CSIR (काउंसिल ऑफ साइंटिफिक इंडस्ट्रियल रिसर्च), भारत सरकार ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *