Breaking News

सीवर सफाई व्यवस्था बन रही हाइटेक, महापौर ने स्वेज इंडिया के वर्कशॉप का किया औचक निरीक्षण

इस दौरान, महापौर ने शिकायत आने पर कार्यवाही से लेकर कर्मचारियों द्वारा सुरक्षा उपकरणों के साथ अपनाई जा रही कार्यप्रणाली का मॉक टेस्ट का निरीक्षण भी किया। साथ ही उपस्थित कर्मचारियों से कहा कि सुरक्षा उपकरण पहनने के बाद ही मेनहोल में जाये, यदि कोई जबरदस्ती करे तो मुझे बताएं।

लखनऊ: महापौर संयुक्ता भाटिया ने आज वर्ल्ड डे फॉर सेफ्टी एंड हेल्थ एट वर्क के मौके पर लक्ष्मण मेला ग्राउंड स्थित लखनऊ की सीवर सफाई व्यवस्था में लगी स्वेज इंडिया कंपनी की वर्कशॉप का औचक निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान महापौर संयुक्ता भाटिया ने स्वेज इंडिया के मैनेजर को स्पष्ट हिदायत दी कि बिना सेफ्टी इक्विपमेंट किसी भी कर्मचारी को मेनहोल में न उतारा जाए। ज्यादातर कार्य मशीनों से ही किया जाए और रोबोट का प्रयोग प्रत्येक जोन में किया जाए। किसी भी सूरत में कर्मचारियों की सुरक्षा के साथ लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कोई भी कर्मचारी जबतक अति आवश्यक न हो तो तब तक मेनहोल में ना उतारा जाये।

बिना सफाई उपकरण मेनहोल में न उतरे कोई कर्मचारी : महापौर

इस दौरान, महापौर ने शिकायत आने पर कार्यवाही से लेकर कर्मचारियों द्वारा सुरक्षा उपकरणों के साथ अपनाई जा रही कार्यप्रणाली का मॉक टेस्ट का निरीक्षण भी किया। साथ ही उपस्थित कर्मचारियों से कहा कि सुरक्षा उपकरण पहनने के बाद ही मेनहोल में जाये, यदि कोई जबरदस्ती करे तो मुझे बताएं।

निरीक्षण के दौरान स्वेज इंडिया के पदाधिकारियों ने महापौर संयुक्ता भाटिया को बताया कि सीवर सफाई के ज्यादातर मामलों में हम मशीन और रोबोट का इस्तेमाल करते है पंरन्तु जब कही मेनहोल में ईंट पत्थर फसता है तो कर्मचारी को उतारना पड़ता है। पंरन्तु उससे पहले अंदर ऑक्सिजन मशीन से गैस का दबाब चेक किया जाता है। उसके पश्चात कर्मचारी को ऑक्सिजन सिलेंडर और मास्क लगाकर पुली के सहारे रस्सी से बांधकर नीचे उतारा जाता है। उसके शरीर के साथ ही गैस मापने वाला यंत्र भी लगा रहता है। जिससे कोई एमरजेंसी पर अलर्ट मिल जाता है और ऐसी स्थिति में तत्काल कर्मचारी को सुरक्षित बाहर निकाल लिया जाता है।

सुरक्षा उपकरण पहनने के बाद ही मेनहोल में जाये, यदि कोई जबरदस्ती करे तो मुझे बताएं- महापौर संयुक्ता भाटिया

क्यों मनाया जाता है ‘वर्ल्ड डे फॉर सेफ्टी एंड हेल्थ एट वर्क’
पूरे देश में 28 अप्रैल को ‘वर्ल्ड डे फॉर सेफ्टी एंड हेल्थ एट वर्क’ मनाया जाता है। इस दिन को मनाने के पीछे उद्देश्य है कि कार्यस्थलों पर स्वस्थ मानकों को बनाए रखना है, ताकि किसी भी दुर्भाग्यपूर्ण घटना से बचा जा सके। यह दिवस अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन की ओर से वैश्विक स्तर पर व्यावसायिक दुर्घटनाओं और बीमारियों की रोकथाम को बढ़ावा देने के लिए घोषित किया गया था। महापौर संयुक्ता भाटिया के निरीक्षण के दौरान, जलकल महाप्रबंधक शैलेन्द्र वर्मा, स्वेज इंडिया के मैनेजर राजेश मथपाल सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

About reporter

Check Also

संत कबीरदास जयंती समारोह पर राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी आयोजित

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Wednesday, May 25, 2022 लखनऊ। राष्ट्रीय ...